लोकसभा चुनाव: BJP ने यूपी में काटे छह सांसदों के टिकट

नई दिल्ली: लंबे इंतजार के बाद बृहस्पतिवार को होली के दिन भाजपा ने लोकसभा चुनाव के लिए अपने 184 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी। इस सूची में उत्तर प्रदेश के 28 उम्मीदवारों के नाम शामिल हैं। जिसके अनुसार वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गुजरात के गांधीनगर से भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, लखनऊ से गृहमंत्री राजनाथ सिंह के नाम शामिल हैं। पहली सूची में पार्टी ने उत्तर प्रदेश के छह मौजूदा सांसदों का टिकट काट दिया है। जिनके नाम सूची में उनकी वर्तमान सीट पर नहीं हैं उनमें केंद्रीय मंत्री कृष्णा राज और राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष राम शंकर कठेरिया भी शामिल हैं। 

पार्टी ने वीवीआईपी सीट मानी जाने वाली अमेठी से स्मृति ईरानी को एक बार फिर राहुल गांधी का मुकाबला करने के लिये मैदान में उतारा है। स्मृति ने टिकट घोषित होने के बाद ट््वीट कर सभी प्रत्याशियों को बधाई दी। उन्होंने कहा,‘अमेठी से कमल खिलाकर संसद में भाजपा को मजबूत करना मेरे लिये गर्व की बात होगी।’ यूपी से से भाजपा की पहली सूची में कृष्णा राज (शाहजहांपुर सुरक्षित) और राम शंकर कठेरिया (आगरा सुरक्षित) के अलावा अंशुल वर्मा (हरदोई सुरक्षित), बाबू लाल चौधरी (फतेहपुर सीकरी), अंजू बाला (मिश्रिख सुरक्षित) और सत्यपाल सिंह (संभल) का टिकट काटा गया है। इन सीटों पर जो नये प्रत्याशी घोषित किये गये हैं उनमें एसपी सिंह बघेल आगरा सीट से, परमेश्वर लाल सैनी संभल से, राजकुमार चाहर फतेहपुर सीकरी से, जयप्रकाश रावत हरदोई से, अशोक रावत मिश्रिख से और अरूण सागर शाहजहांपुर सीट से चुनाव लड़ेंगे। 
 



साल 2014 के लोकसभा चुनाव में वाराणसी में नरेंद्र मोदी को 5, 81, 022 वोट मिले थे जबकि उनके निकटतम प्रतिद्वन्दी अरविंद केजरीवाल को 2, 09, 238 वोट मिले थे। मोदी ने यह चुनाव 3, 71, 784 वोटों से जीता था। राजधानी लखनऊ की सीट पर राजनाथ सिंह को 5, 61, 106 वोट मिले थे और उन्होंने कांग्रेस की रीता बहुगुणा जोशी को 2, 72, 749 वोटों से शिकस्त दी थी। वीवीआईपी सीट अमेठी में कांग्रेस प्रत्याशी राहुल गांधी को 4, 08, 651 वोट मिले थे जबकि उनकी निकटतम प्रतिद्वन्दी भाजपा की स्मृति ईरानी को 3, 00, 748 वोट पड़ा था। उत्तर प्रदेश में पहली सूची में जिन अन्य लोगों का नाम शामिल हैं उनमें राघव लखनपाल (सहारनपुर), संजीव कुमार बालियान (मुजफफरनगर), कुंवर भारतेंद्र सिंह (बिजनौर), राजेंद्र अग्रवाल (मेरठ), सत्यपाल सिंह (बागपत), विजय कुमार सिंह (गाजियाबाद) और महेश शर्मा (गौतमबुद्ध नगर) शामिल हैं। उत्तर प्रदेश में पहले चरण में 11 अप्रैल को जिन लोकसभा सीटों पर मतदान होना है, उनमें पार्टी ने अभी कैराना सीट से उम्मीदवार घोषित नहीं किया है। भाजपा ने उन्नाव से साक्षी महाराज, बरेली से संतोष गंगवार, मथुरा से हेमामालिनी को दोबारा टिकट देने का फैसला लिया है। 

राजस्थान के 14 सांसदों को मिला दुबारा मौका
भाजपा ने राजस्थान में अपने 14 मौजूदा सांसदों को आगामी लोकसभा चुनाव में एक बार फिर समर में उतारने का फैसला किया है जिनमें चार केंद्रीय मंत्री शामिल हैं। भाजपा ने आम चुनावों के लिए 184 प्रत्याशियों की सूची बृहस्पतिवार को नयी दिल्ली में जारी की जिसमें राजस्थान के लिए 16 प्रत्याशी घोषित किए गए हैं। राज्य में लोकसभा की कुल 25 सीटें हैं। राज्य के लिए पार्टी की सूची में एक नया नाम नरेंद्र खीचड़ का है जिन्हें पार्टी ने झुंझुनू सीट पर प्रत्याशी बनाया है। भाजपा ने मौजूदा सांसद संतोष अहलावत को इस बार इस सीट पर मौका नहीं दिया है। खीचड़ फिलहाल मंडावा से विधायक हैं। भाजपा ने केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल (बीकानेर), राज्यवर्धन सिंह राठौड़ (जयपुर ग्रामीण), पी पी चौधरी (पाली) और गजेंद्र सिंह शेखावत (जोधपुर) निहालचंद (गंगानगर) पर दोबारा भरोसा जताया है।

पार्टी ने सीकर से सुमेधानंद सरस्वती, जयपुर से रामचरण बोहरा, टोंक सवाई माधोपुर से सुखबीर सिंह जौनपुरिया, जालोर से देवजी पाटिल, उदयपुर से अर्जुन मीणा, चित्तौडग़ढ़ से चंद्रप्रकाश जोशी, भीलवाड़ा से सुभाष बहेरिया, कोटा से ओम बिड़ला और झालावाड़ बारां से दुष्यंत सिंह को अपना प्रत्याशी बनाया है। उल्लेखनीय है कि जयपुर के पूर्व राजघराने की सदस्य दीयाकुमारी जयपुर और टोंक सवाई माधोपुर सीट से दावेदारी कर रही हैं। अभी उन्हें टिकट नहीं दिया गया है। 

Related Stories:

RELATED लोकसभा चुनाव 2019: सोनिया के खिलाफ इस दिग्गज को बीजेपी ने मैदान में उतारा