दीवाली की रौनक फीकी करेगा रुपया, लाइटिंग सामान होंगे महंगे

बिजनेस डेस्कः रुपए में कमजोरी से इस दीवाली पर घर जगमग करना महंगा हो सकता है। रोशनी के लिए ज्यादातर लाइटिंग सामान जैसे लड़ी-झालर, दीए, बल्ब, एलईडी और भगवान की मूर्तियां आदि आयात होते हैं और कमजोर रुपए से इनका आयात महंगा हो गया है। ऐसे में घरेलू बाजार में इन उत्पादों के दाम बढ़ सकते हैं।

PunjabKesari

दीवाली पर महंगा मिलेगा सामान
सामान महंगे होने से इनका कारोबार भी सुस्त रह सकता है। दिल्ली में लाइटिंग सामान बेचने वाले करीब 4,500 कारोबारी हैं। जिनका सालाना कारोबार 1,500 से 2,000 करोड़ रुपए होने का अनुमान है। दिल्ली के भगीरथ पैलेस इन सामान के कारोबार का बड़ा केंद्र है। दिल्ली के एक लाइटिंग सामान आयातक ने बताया कि दीवाली के लिए जुलाई-सितंबर के दौरान ज्यादातर लाइटिंग सामान का आयात होता है और इस समय आयात के भुगतान का समय है। बीते साल की तुलना में डॉलर के मुकाबले रुपया करीब 8 फीसदी कमजोर हुआ है, जिससे लाइटिंग सामान का आयात 15 से 20 फीसदी महंगा हो गया है। इसका असर दीवाली पर इनकी कीमतों में दिखेगा और ये 15 से 20 फीसदी महंगे मिलेंगे।

PunjabKesari

चीन से आयात होता है लाइटिंग सामान
डॉलर के मुकाबले रुपया अब तक के निचले स्तर 72 के करीब पहुंच गया है, जो पिछले साल की तुलना में 12 फीसदी से ज्यादा कमजोर है। दीवाली पर बिकने वाला 60 से 70 फीसदी लाइटिंग सामान खासकर लड़ी-झालर का चीन से आयात होता है। कमजोर रुपए से इनके दाम 20 फीसदी तक बढ़ गए हैं। दाम ज्यादा होने से दीवाली पर इनकी बिक्री भी घटने की आशंका है। रुपए में रिकॉर्ड गिरावट को देखते हुए अब कारोबारी आगे ऑर्डर देने से बच रहे हैं।

PunjabKesari

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED इस दीवाली पर जेब होगी ज्यादा ढीली, महंगे होंगे ये सामान