ऑफ द रिकॉर्डः डगमगा रहे साम्राज्य से लालू चिंतित

नेशनल डेस्कः राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव आज बहुत चिंतित हैं। वह मुम्बई के अस्पताल से छुट्टी लेकर पटना आ गए। कारण स्पष्ट है कि जोसाम्राज्य पीछे छोड़ गए थे वह अब डगमगा रहा है। उनके परिवार में खुली जंग शुरू हो गई है। उनके बड़े पुत्र तेजप्रताप यादव अपने छोटे भाई तेजस्वी के खिलाफ बयान दे रहे हैं। तेजस्वी पार्टी में नंबर 2 के नेता हैं। यह लड़ाई 5 जुलाई को उस समय भड़की जब तेजप्रताप ने अपने छोटे भाई पर प्रहार किया। यह लड़ाई संकट के इस समय में राजद के लिए बड़ा आघात है। एक अन्य कारण यह है कि तेजस्वी ने अपनी सीमा को उस समय लांघ दिया जब उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के लिए महागठबंधन के दरवाजे बंद हैं। लालू ने मुम्बई से फोन कर अपने दोनों पुत्रों को शांत किया और खुद पटना लौट आए।


अस्वस्थ होने के कारण लालू जमानत पर हैं इसलिए वह सार्वजनिक तौर पर राजनीति नहीं कर सकते मगर एक चतुर राजनेता होने के नाते वह जानते हैं कि नीतीश के बिना वह 2019 के लोकसभा चुनाव में बड़ी जीत प्राप्त नहीं कर पाएंगे। भाजपा-जद (यू)-लोजपा-आर.एल.एस.पी. गठबंधन बहुत मजबूत है। लालू की चिंता का एक अन्य कारण उनके पुत्र तेजप्रताप यादव की पत्नी ऐश्वर्या राय भी हैं जो एक राजनीतिक परिवार से संबंध रखती हैं और उनकी राजनीतिक महत्वाकांक्षा भी है।

ऐसा महसूस किया जा रहा है कि ऐश्वर्या के परिजन स्थिति को उग्र बना रहे हैं। पार्टी के 22वें स्थापना दिवस के लिए पटना भर में पार्टी द्वारा लगाए गए पोस्टरों में ऐश्वर्या की फोटो प्रमुखता से दिखाई दी मगर लालू चाहते हैं कि वह अब इस तड़क-भड़क से दूर रहें। ऐसा हो सकता है कि पटना में अपने ठहराव के दौरान लालू मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को टैलीफोन कर फिर से संबंध बनाएं।

Related Stories:

RELATED फड़णवीस 16 मंत्रियों के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों को छुपा रहे हैं : मुंडे