#MeToo बनाम #KuToo अभियानः महिलाओं ने नई ज्यादती के खिलाफ उठाई आवाज

टोक्योः पूरी दुनिया की महिलाएं आज सामाजिक बंधनो को दरकिनार कर पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रही हैं, बावजूद इसके महिलाओं और पुरुषों के बीच कई असमानताएं हैं। इसका ताजा उदाहरण जापान में देखने को मिला है। टोक्यो शहर में महिलाओं ने ऑफिस ड्रेस कोड के खिलाफ एक ऑनलाइन अभियान शुरू किया है। इस अभियान में महिलाओं के लिए अनिवार्य की गई 'हाई हील्स' का विरोध किया जा रहा है। महिलाओं के विरोध की आवाज उठा रहे इस अभियान का नाम #KuToo है। जापान में महिलाओं और पुरुषों दोनों के लिए ही कुछ ड्रेस कोड रखे गए हैं, जिसमें महिलाओं का हाई हिल्स पहनना अनिवार्य है।



दुनिया में जापान में इन दिन #MeToo की तर्ज पर #KuToo अभियान चल रहा है.। इस अभियान के जरिए महिलाएं ऑफिस के ड्रेसकोड में हाई हील्स की अनिवार्यता का विरोध कर रही हैं। दरअसल जापान में महिलाओं के लिए ऑफिस में हाई हील्स पहनना अनिवार्य है. हाई हील्स के कारण कई बार महिलाओं को कई तरह की शारीरिक परेशानियां होती हैं. महिलाओं का कहना है कि हाई हील्स से एड़ी में दर्द, कमर दर्द जैसी तकलीफों से गुजरना पड़ता है। कई महिलाओं ने तर्क दिया है कि हाई हील्स पहनने के लिए बाध्य नहीं किया जाना चाहिए। यह एक तरह की महिला विरोधी मानसिकता है, जिसमें उनके स्वास्थ्य की अनदेखी की जाती है।




ड्रेसकोड को लेकर चलाए जा रहे #KuToo अभियान को लोगों का काफी समर्थन मिल रहा है। लोग सोशल मीडिया पर ड्रेस कोड में हाई हील्स की अनिवार्यता को पुरानी सामंती मानसिकता का प्रतीक बता रहे हैं। बता दें कि जापान के ऑफिस में महिला एवं पुरुष दोनों के ड्रेसकोड अनिवार्य है। महिलाओं की ड्रेसकोड में यहां हाई हील्स अनिवार्य हैं तो वहीं पुरुषों को फॉर्मल ड्रेस के साथ क्लीनशेव रहना पड़ता है।
 

Related Stories:

RELATED जस्टिस गोगोई सोशल मीडिया पर जमकर हो रहे ट्रोल, #MeToo  कर रहा खूब ट्रेंड