Kundli Tv- खत्म हुआ सूर्य ग्रहण, जानें कैसा रहेगा प्रभाव

PunjabKesari

ये नहीं देखा तो क्या देखा (देखें VIDEO)

PunjabKesariआज शुक्रवार, 13 जुलाई को करीब प्रात: 7.18 बजे खंडग्रास सूर्य ग्रहण लगा लेकिन यह ग्रहण भारत में किसी भी जगह पर दिखाई नहीं दिया। ग्रहण प्रात: 9.43 बजे समाप्त हो गया। ग्रहण देश में दिखाई नहीं देने के कारण सूतक नहीं लगा। यह ग्रहण ऑस्ट्रेलिया के दक्षिणी भाग विक्टोरिया, तस्मानिया आदि के अतिरिक्त प्रशांत व हिंद महासागर में ही नजर आया। 11 अगस्त को 2018 का तीसरा सूर्य ग्रहण लगेगा, जो पूर्वी यूरोप, एशिया, नोर्थ अमेरिका और आर्कटिक में देखा जा सकेगा। इसके बाद अगले साल यानि 2019 में 6 जनवरी को सूर्य ग्रहण लगेगा, जिसका प्रभाव एशिया में देखने को मिलेगा। ज्योतिष विद्वानों की मानें तो इस सूर्यग्रहण की अशुभता का असर कर्क, मिथुन और सिंह राशि पर होगा। मेष, मकर, तुला और कुंभ राशि पर शुभता का संचार करेगा।

PunjabKesari
सूर्य ग्रहण के प्रभाव से कुछ प्रदेशों में भारी वर्षा होने के आसार हैं। भूस्खलन, बाढ़, भूकंप, समुद्र में तूफान, आंधी जैसी अपदाएं भी हो सकती हैं। इंटरनेशनल पॉलिटिक्स में कुछ बड़े फेरबदल हो सकते हैं। बड़े देशों में युद्ध की संभावनाएं बन सकती हैं। जो देश गुपचुप तरीके से एक-दूसरे के प्रति वैर भाव रख रहे थे, वे अब खुलकर विरोध में आएंगे। भारत पर इस ग्रहण के बुरे प्रभाव की बात करें तो कोई बड़ी दुर्घटना होने के आसार हैं। किसी बड़े पॉलिटिशियन का भांडा फूट सकता है। ग्रहण में सूर्य और चंद्र एक साथ होंगे, जिस वजह से आम जनता की सोचने-समझने की शक्ति पर इसका गहरा प्रभाव पड़ेगा। भाईचारे की भावना खत्म होगी, विरोधभाव बढ़ेगा। हिंसक घटनाओं और तनाव की स्थिती में इज़ाफा होगा। 

PunjabKesari
आज आषाढ़ अमावस्या है। ग्रहण के दौरान या उसके बाद दान करना पुण्य फल देता है। जीवन में चल रही सभी परेशानियों को खत्म करता है। पितरों की तृप्ति के लिए दान करें। ब्राह्मण भोजन से पितृ को संतुष्ट मिलती है। भोजन उपरांत ब्राह्मण को सामर्थ्यानुसार दक्षिणा देकर आशीर्वाद लें। इसके बाद गाय, कुत्ते, कोए व चीटियों का भोजन निकालें तथा गाय को 5 फल भी अवश्य खिलाएं।

Kundli Tv- गुप्त नवरात्र के ऐसे राज़ जो नहींं जानते होंगे आप

PunjabKesari

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!