Kundli Tv- आदि पेरुक्कू पर लक्ष्मी और कुबेर भरेंगे धन के भंडार

ये नहीं देखा तो क्या देखा (देखें VIDEO)

PunjabKesariआज शुक्रवार दिनांक 03.08.18 को श्रावण मास की षष्ठी तिथि पर वैदिक वर्षा ऋतु पर्व मनाया जाएगा। समृद्धि व प्रजनन के इस पर्व को तमिल साहित्य में आदि पेरुक्कू कहते हैं। यह पर्व वर्षा ऋतु की समृद्धि का प्रतीक है। वर्षा ऋतु की देवी देवराज इंद्र की पत्नी इंद्राणी को समर्पित है। देवराज इंद्र की पत्नी इंद्राणी को शची और पौलोमी भी कहते हैं। नाम पौलोमी इनके असुर पिता पुलोमा के नाम के कारण है। ऋग्वेद की देवियों में वह प्रधान देवी मानी जाती हैं, इंद्र को शक्ति प्रदान करने वाली, स्वयं अनेक ऋचाओं की ऋषि भी हैं। शास्त्रों में इंद्राणी को इन्द्र की आदर्श व शालीन पत्नी बताया गया है और गृह की सीमाओं में उसकी अधिष्ठात्री देवी भी हैं। यह पर्व श्रावण पर बरसने वाले अमृत अर्थात वर्षा के जल से खेती व फसलों की उन्नति के लिए मनाया जाता है। इस पर्व में प्रकृति की कृपा को वर्षा ऋतु के जल से अथवा वर्षा के पानी के नदियों में आगमन पर मनाया जाता है। इस पर्व पर इंद्राणी, वरुण, लक्ष्मी, नारायण व कुबेर की पूजा प्रकृति के रूप में की जाती है। यह पर्व जल के जीवन देने वाले गुणों को समर्पित है। 

PunjabKesari
यह पर्व नव-विवाहित जोड़ों के लिए महत्वपूर्ण माना जाता है। इस पर्व पर घर के द्वार को लाल ध्वजा व आम के पत्तों के साथ सजाया जाता है। इस पर्व पर नारियल, चावल, दूध और गुड़ से बने मिष्ठानों को पंच देवताओं पर अर्पित किया जाता है। इस दिन संतान के स्वास्थ की रक्षा के लिए महिलाएं देवी पार्वती की पूजा करती हैं। इस दिन नदीयों की भी पूजा का विधान है, इस दिन लोग पवित्र नदियों, सरोवरों व पोखरों में आए वर्षा के जल में डुबकी लगाकर घाटों पर पूजा अनुष्ठान कर नए कपड़े पहनते हैं। इस दिन आम की पत्तियों, नारियल के तेल का दीपक, गुड के मीठे चावल और नारियल से बने मिष्ठानों का अत्यधिक महत्व है। इस दिन के विशेष पूजन से घर से गरीबी दूर होती है, धन के भंडार भरते हैं तथा जीवन में समृद्धि आती है।

PunjabKesari
स्पेशल पूजन विधि:घर की उत्तर-पूर्व दिशा में सफ़ेद कपड़ा बिछाकर एक कलश में जल, दूध, अक्षत, गुड़, सुपारी, अबीर और चंदन डालकर उस पर नारियल स्थापित पर विधिवत पंचदेव का षोडशोपचार पूजन करें। नारियल तेल में इत्र मिलाकर दीपक करें, गुलाब की अगरबत्ती जलाएं, गुलाल चढ़ाएं, गुलाबी फूल चढ़ाएं, चावल की खीर का भोग लगाएं, लाल वस्त्र चढ़ाएं, आम की पत्तियां चढ़ाएं, नारियल और मिश्री चढ़ाएं और 108 बार विशिष्ट मंत्र जपें। इसके बाद भोग गरीबों में बांटें। 

PunjabKesariस्पेशल मंत्र:ॐ ऐं इंद्राणी देव्यै नमो नमः॥ 
स्पेशल मुहूर्त:सुबह 08:00 से सुबह 09:00 तक।

PunjabKesari
शुभ मुहूर्त: 
अगर आज आप किसी को प्रपोज़ कर रहे हैं या किसी खास से अपना दिल का हाल बयां करना चाहते हैं तो इसके लिये बेस्ट टाइम है-17:27-19:07

PunjabKesari
अगर आज आप कोई टू व्हीलर या फोर व्हीलर गाड़ी खरीदना चाहते हैं, तो वाहन खरीदने के लिए बेस्ट टाइम रहेगा- 09:07-10:47


आज आप कोई नया कंस्ट्रक्शन करवा रहे हैं या कोई नींव रखना चाहते हैं तो इसके लिए सबसे बेस्ट टाइम है-12:27-14:07


अगर आज आप बेबी की डिलीवरी के लिए सीजेरियन करवाने की सोच रहे हैं तो इसके लिये अच्छा समय रहेगा-12:27-14:07


अगर आज आप कोई प्रॉपर्टी खरीदने-बेचने की सोच रहें हैं तो बयाना लेने और देने के लिए शुभ मुहूर्त रहेगा- 09:07-10:47


अगर आज आप शेयर बाजार या कमोडिटी मार्केट में इन्वेस्टमेंट कर रहे हैं तो इसके लिए लकी टाइम रहेगा-14:07-15:47


अगर आज कोर्ट-कचहरी में किसी मामले में दरख्वास्त देने की सोच रहे हैं तो इसके लिये शुभ मुहूर्त रहेगा-12:27-14:07


अगर आज आप सोने या चांदी की ज्वेलरी खरीदने की सोच रहे हैं तो इसके लिए बेस्ट टाइम रहेगा-12:27-14:07


आज अगर कोई नया बिजनेस शुरु करने की सोच रहें है तो इसके लिए अच्छा टाइम आज नहीं है।


अगर आज आप फाइनेंशियल लेन-देन करना चाहते हैं तो इसके लिए बेस्ट टाइम रहेगा-15:47-17:27


उपाय चमत्कार: 
गुड हैल्थ के लिए:लक्ष्मी जी पर चढ़ी खीर का सेवन करें। 


गुडलक के लिए:देवी इंद्राणी (पूजा कलश) पर चढ़े आम के पत्ते घर के मेन गेट पर बांधें। 


विवाद टालने के लिए: भगवान विष्णु पर चढ़ा लाल वस्त्र छत पर बांध दें।  


नुकसान से बचने के लिए:जल अंजलि में लेकर "वं वरुणाय नमः" मंत्र का जाप करें।


प्रॉफेश्नल सक्सेस के लिए: कुबेर देव (पूजा कलश) पर कमलगट्टे चढ़ाएं। 


एजुकेशन में सक्सेस के लिए: देवी इंद्राणी (पूजा कलश) पर मुलतानी मिट्टी चढ़ाएं। 


बिज़नेस में सफलता के लिए:कागज़ पर गुलाबी स्केच पेन से "ऐं ह्रीं श्रीं" लिखकर जेब में रखें। 

पारिवारिक खुशहाली के लिए: गुड़ और चावल जल में प्रवाहित करें।


लव लाइफ मे सक्सेस के लिए: देवी इंद्राणी (पूजा कलश) पर चंदन का इत्र चढ़ाएं। 


मैरिड लाइफ में सक्सेस के लिए: दंपत्ति "श्रीं लक्ष्मी वल्लभाय नमः" का जाप करें।

Kundli Tv- यहां मिलेगी चार्तुमास से जुड़ी हर एक जानकारी

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!