शिक्षा पर गरमाया सदन, जानिए क्या बोले CM जयराम और वीरभद्र सिंह

 

शिमला (राजीव): हिमाचल विधानसभा बजट सत्र के आखिरी दिन शिक्षा पर पक्ष और विपक्ष में तीखी नोंक-झोक हुई। स्कूल कॉलेज खोलने पर जहां पक्ष द्वारा विपक्ष पर आरोप लगाए गए वहीं विपक्ष ने सरकार पर शिक्षा के क्षेत्र को अनदेखा करने के आरोप लगाए। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि पिछली सरकार शिक्षा के क्षेत्र में जो होना चाहिए था वो नहीं हुआ और पांच साल तक शिक्षा को नजरअंदाज किया गया। सरकार ने स्कूल कॉलेज खोलने पर जोर दिया और एक लाख बजट का प्रावधान कर कॉलेज खोला गया। उन्होंने कहा शिक्षण संस्थान खुलने चाहिए लेकिन राजनीतिक आधार पर नहीं। उन्होंने कहा कि पूर्व सरकार में छोटे नेताओं ने भी खड़े होकर राजा साहब कॉलेज की मांग की, वहां खोल दिए है ये संस्थान खोलने के पैरामीटर नहीं होने चाहिए। 

दूसरी और पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र ने भी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि ये सरकार शिक्षा को बोझ समंझ रही है और शिक्षा पर पैसा नहीं खर्च कर रही। प्रदेश में नए स्कूल कॉलेज खोलने के बजाय बंद करने में लगी है लेकिन लोगों और कोर्ट के चलते इन्हें स्कूल खोलने पड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी सरकार का शिक्षा को लेकर ऐसा रवैया नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि पूर्व में सरकार ने जरूरत के मुताबिक ही स्कूल कॉलेज खोले थे और अब कहीं स्कूल खोलने की जरूरत नहीं है।

Related Stories:

RELATED वीरभद्र सिंह ने कहा- मैं ही बजाऊंगा सारे हिमाचल का ढोल (Watch Video)