रावी दरिया पर बने पुल का केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने किया लोर्कापण

कठुआ (गुरप्रीत) : रावी दरिया पर बने कीडियां गंडियाल पुल मंगलवार लोगों को समर्पित कर दिया। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, राज्यपाल सत्यपाल मलिक और स्थानीय सांसद एवं केंद्रीय राज्यमंत्री डॉ जितेंद्र सिंह ने इसका विधिवत उद्घाटन कर इसे जनता को समर्पित कर दिया। इस मौके पर पूर्व विधायक एवं वन मंत्री राजीव जसरोटिया के अलावा प्रशासनिक अधिकारी भी मौजूद रहे। अपने संबोधन में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने इसका निर्माण समय से पहले करने और निर्माण के लिए तय राशि का 26 करोड़ रुपये बचाने के लिए निर्माण एजेंसी को भी बधाई दी। उन्होंने कहा कि यह निर्माण इसी वर्ष के मार्च में पूरा होना था जबकि इसका निर्माण पहले हो गया यही नहीं 158 करोड़ रुपये इसकी लागत निर्धारित की गई थी जबकि इस लागत से कम में पुल का निर्माण हुआ है।

उन्होंने कहा कि इसका श्रेय पूरी तरह से केंद्रीय राज्यमंत्री एवं स्थानीय सांसद डॉ जितेंद्र सिंह को जाता है जिन्होंने लगातार उनके कार्यालय में आकर इस पुल निर्माण को लेकर दिलचस्पी दिखाई। उन्होंने कहा कि उनके लिए यह खुशी की बात है कि इस पुल का नींव पत्थर भी उन्होंने खुद रखा था और आज जनता का दर्शन कर इसका लोर्कापण भी खुद कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि उनका प्रयास है कि प्रदेश जम्मू कश्मीर में सडक़ों का बेहतर जाल बिछे, इसके लिए बेहतर कार्य हो भी रहे हैं। प्रधानमंत्री के विशेष पैकेज में से 45 हजार करोड़ तो उनके विभाग को मिला जिसके चलते रियासत में विभिन्न राजमार्गों पर टनल

निर्माण एवं सडक़ों का जाल बिछ रहा है। उन्होंने कहा कि वे चाहते हैं कि नई दिल्ली और नई मुंबई की तर्ज पर नया जम्मू बने। जहां पर्यावरण संरक्षण के संदेश की झलक भी हो। उन्होंने राज्यपाल से कहा कि वे इसके लिए अधिकारियों से चर्चा करें।

 

उन्होंने जम्मू के रिंग रोड का जिक्र करते हुए कहा कि इसका निर्माण भी जारी है जो जल्द पूरा होगा जिसके बाद इसका लाभ लोगों को मिलेगा। उन्होंने अन्य कई सडक़ों से जुड़ी परियोजनाओं का उल्लेख किया। उन्होंने शाहपुर कंडी प्रोजेक्ट का श्रेय राज्यपाल के साथ साथ पंजाब की कांग्रेस सरकार के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को दिया और कहा कि दोनों ही राज्यों के सहयोग से यह प्रोजेक्ट भी मंजूर कर लिया गया है। इसके लिए 90 प्रतिशत खर्च केंद्र करेगा जबकि दस प्रतिशत का खर्च राज्यों का होगा। उन्होंने पूणे सहित अन्य राज्यों की तर्ज पर राज्य जम्मू कश्मीर में इलेक्ट्रिक बसों को चलाने पर जोर दिया। उन्होंने  अपने भाषण के दौरान कार्यक्रम स्थल पर देरी से पहुंचने को लेकर लोगों से हाथ जोडक़र माफी भी मांगी।

 

 लोगों का सपना केंद्र सरकार ने साकार किया : डॉ जितेंद्र 
केंद्रीय राज्यमंत्री डॉ जितेंद्र सिंह ने कहा कि कीडियां गंडयाल के लोग पहले एक तरह से सपना देखते थे कि यह पुल बनेगा। अब जाकर यह सपना साकार हुआ है। दो पंचायतों के लोगों का संपर्क सीधा जिला मुख्यालय से हुआ है। इससे पहले लोगों को पंजाब से होकर तीस से ज्यादा किलोमीटर तक का सफर तय कर जिला मुख्यालय पहुंचना पड़ता था। अब पांच किलोमीटर सफर से वे सीधा जिला मुख्यालय पहुंचेंगे। उन्होंने कहा कि इस पुल निर्माण से यह भी साबित हुआ है कि केंद्र सरकार वोटों की राजनीति के बजाय अवाम की सेवा करने में व्यस्त है। भले ही कई लोग सरकार को लेकर दुष्प्रचार करें लेकिन सरकार का एक ही एजेंडा है विकास और इसी एजेंडे को लेकर चल रही है। उन्होंने अन्य कई परियोजनाओं के तहत जारी निर्माण कार्यों का भी उल्लेख किया। 

 


 राज्यपाल ने पड़े गडकरी की तारीफ में कसीदे
  रियासत के राज्यपाल ने पुल के लोर्कापण समारोह में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की तारीफ में काफी कसीदे पड़े। उन्होंने अपने भाषण में यह भी कहा कि उन्होंने भी काफी काम किया है। यहां तक की भाजपा के मेनीफेस्टों भी बनाए हैं। मोदी के आदेशों पर मैनीफेस्टों को लंबा भी किया है जो बातें मैनीफेस्टों में थी, वो आज धीरे धीरे पूरा भी हो रही हैं। उन्होंने शाहपुर कंडी प्रोजेक्ट पर बोलते हुए कहा कि यह प्रोजेक्ट सिर्फ समझौते में एक लाइन में अटका हुआ था।  पिछले 40 सालों से इसको लटकाया जा रहा था। केंद्र के प्रयासों से इसको हमने आधे घंटे में साईन करवा लिये। जिससे अब रियासत के किसानों को इस प्रोजेक्ट से वेहताशा फायदा मिलेगा। उन्होंने मजाकिया अंदाज में कहा कि गवर्नर इतना ज्यादा बोला भी नहीं करते लेकिन वे जब भी बोलते हैं तो कुछ ऐसा बोल जाते हैं कि फिर हफ्ता भर उसी में फंसे रहते हैं। राज्यपाल ने अपने भाषण का समापन गडक़री की तारीफ में शेयर सुनाकर किया। 
 

Related Stories:

RELATED नितिन गडकरी ने राहुल पर किया पलटवार, जानिए क्या कहा?