वीरभद्र-सुक्खू की जुबानी जंग में कूदे कौल सिंह, दिया ये बड़ा बयान

मंडी (नीरज):पूर्व में स्वास्थ्य मंत्री रहे कौल सिंह ठाकुर ने संगठन में फेरबदल के बाद पूर्व सी.एम. वीरभद्र सिंह और पूर्व प्रदेशाध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू के बीच चल रही जुबानी जंग को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। मंडी जिला कांग्रेस सेवादल की बैठक में भाग लेने के बाद पत्रकारों के साथ अनौपचारिक बातचीत में उन्होंनेे कहा कि नेताओं के बीच इस प्रकार की बयानबाजी नहीं होनी चाहिए। 

एकजुटता से काम करें सभी नेता

उन्होंने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस पार्टी का संगठन पूरी तरह से मजबूत है और सभी नेताओं को एकजुटता से काम करना चाहिए। उन्होंने कहा कि पूर्व में अध्यक्ष रहे सुखविंदर सिंह सुक्खू ने काफी अच्छा काम किया है और मौजूदा अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर भी मेहनती आदमी हैं। जब वह पार्टी के अध्यक्ष थे तो उस वक्त राठौर ने महामंत्री के तौर पर बेहतर कार्य किया था और अब भी वह बेहतर कार्य करेंगे।

दवा घोटाले के आरोपों को सिरे से नकारा

वहीं कौल सिंह ने उन पर मंत्री रहते लगाए गए दवा घोटाले के आरोपों को सिरे से खारिज किया। उन्होंने कहा कि उन पर किसी प्रकार के दवा घोटाले का आरोप नहीं है और उनके कार्यकाल में ऐसा कोई घोटाला नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री रहते उन दवा कंपनियों पर कार्रवाई करते हुए लाइसैंस सस्पैंड किए थे जिनकी दवाइयों के सैंपल फेल हो गए थे। 

कहीं हवा में ही न रह जाए भाजपा की चार्जशीट

उन्होंने कहा कि भाजपा ने चार्जशीट में आशा वर्कर की भर्ती को लेकर आरोप लगाए हैं और उनकी जांच वह कभी भी करवा सकते हैं। उन्होंने कहा कि कहीं ऐसा न हो कि भाजपा की सरकार अपना कार्यकाल पूरा कर ले और चार्जशीट हवा में ही रह जाए।

Related Stories:

RELATED Pulwama हमले पर अपने बयान पर कायम Sidhu, जानिये अब क्या कहा