कर्नाटक सरकार ने ओला कैब से प्रतिबंध हटाया

नई दिल्लीः कर्नाटक सरकार ने रविवार को एप के जरिए टैक्सी बुकिंग सेवा देने वाली कंपनी ओला को अपनी सेवा फिर से शुरू करने की इजाजत दे दी। कंपनी पर बिना मंजूरी के बाइक टैक्सी सेवा चलाने को लेकर दो दिन पहले पाबंदी लगाई गई थी।

कर्नाटक के सामाजिक कल्याण मंत्री प्रियांक खडग़े ने ट्विटर पर लिखा है, ‘‘ओला कैब्स आज से अपना काम पहले की तरह कर सकेगी। हालांकि नई प्रौद्योगिकी के अनुसार नियम बनाने को लेकर तत्काल नीतियों की आवश्यकता है। साथ ही उद्योग को भी नवप्रवर्तन के लिए नीतियां तैयार करने में मदद को लेकर साथ मिलकर काम करना चाहिए।’’ ओला कैब्स में निवेश कर रहे मैट्रिक्स पार्टनर्स इंडिया ने मामले के त्वरित निपटान को लेकर सराहना की है।

मैट्रिक्स इंडिया के संस्थापक और प्रबंध निदेशक अवनीश बजाज ने कहा, ‘‘मामले का समाधान जिस गति से किया गया है, वह सराहनीय है। यह नए भारत के लिए बेहतर भविष्य को बताता है।’’

उल्लेखनीय है कि कर्नाटक के परिवहन विभाग ने शुक्रवार को ओला का लाइसेंस छह महीने के लिये निलंबित कर दिया था। विभाग का कहना था कंपनी बिना मंजूरी के बाइक टैक्सी चला रही थी। विभाग ने 18 तारीख के आदेश में कहा कि कंपनी ने ओला का संचालन करने वाली कंपनी एनी टेक्नोलॉजीस प्राइवेट लिमिटेड बेंगलुरु ने कर्नाटक मांग आधारित परिवहन प्रौद्योगिकी एग्रीगेटर्स नियम-2016 का उल्लंघन किया है। इस संबंध में उप परिवहन आयुक्त और वरिष्ठ क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी, बेंगलुरु (दक्षिण) की रपट के आधार पर उसका लाइसेंस छह माह यानी 19 जून 2021 तक के लिए निलंबित गया था।        
 

Related Stories:

RELATED कौन है मधु जिसके लिए रो रहा है सारा कर्नाटक (Watch video)