Pak सेना में अल्पसंख्यकों के लिए निकली ये नौकरियां,  सोशल मीडिया पर हो रहा विरोध

 इस्लामाबादः पाकिस्तान में धर्म के आधार पर भेदभाव और  अल्पसंख्यकों  के साथ दोयम दर्जे के व्यवहार किया जाता है। इसाक उदाहरण है पाक के मशहूर अखबार डॉन में सेना के लिए विभिन्न पदों पर निकली  नौकरियां  है। इसमें चतुर्थ श्रेणी के सफाई कर्मी के लिए पद आरक्षित है और उसके लिए आवेदन सिर्फ गैर-मुस्लिम ही कर सकते हैं। 
 

पाकिस्तान में मानवाधिकार धिकारों के लिए संघर्ष करनेवाले कपिल देव ने अखबार के विज्ञापन को ट्वीट किया है, जिसकी सोशल मीडिया पर खूब आलोचना हो रही है। कपिल देव ने ट्वीट किया, 'सफाईकर्मी, सैनिटरी वर्कर की नौकरी के लिए पाकिस्तान में सिर्फ 'नॉन मुस्लिम' होना ही काफी है। आपका काम है सिर्फ गंदगी को बढ़ावा देना और हमारा काम है उसकी सफाई करना।' 

पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर हमले की पुष्टि कई अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार रिपोर्ट में भी की जा चुकी है। पाकिस्तान के ईसाइयों, सिखों, अहमदिया और अन्य लोगों की देश में संघर्ष की स्थिति है। पाकिस्तान की 20 करोड़ आबादी में अल्पसंख्यक समुदायों की हिस्सेदारी महज 4 फीसदी है। 
 
 

 

Related Stories:

RELATED पाकिस्तान: हाईकोर्ट के आदेश के चलते नवाज और मरियम शरीफ जेल से रिहा