ऑफ द रिकॉर्डः‘झप्पी’ संयोग नहीं बल्कि राहुल ने लिखी थी इसकी पटकथा

नेशनल डेस्कः राहुल गांधी ने जब से कांग्रेस अध्यक्ष का पद संभाला है वह राजनीति के दाव-पेंच  तेजी से सीख रहे हैं। अगर उन्होंने पिछले सप्ताह कांग्रेस कार्यकारिणी समिति से सभी बड़ी तोपों को हटा कर पार्टी और राजनीतिक पर्यवेक्षकों को पूरी तरह आश्चर्यचकित कर दिया था तो वह इस बात के स्पष्ट संकेत दे रहे हैं कि पीढ़ीगत बदलाव अब होगा। अविश्वास प्रस्ताव (एन.सी.एम.) पर हुई चर्चा के दौरान लोकसभा में उनकी झप्पी और आंख मारने की घटनाओं ने तूफान ला दिया। झप्पी और आंख मारने की पृष्ठभूमि में अविश्वास प्रस्ताव की चर्चा पीछे रह गई मगर यह घटना स्तम्भकारों के लिए एक बड़ा विषय बन गया। इस संबंध में राहुल गांधी खुद ही झप्पी और आंख मारने की घटनाओं पर परस्पर विरोधी संकेत दे रहे हैं।
PunjabKesari
उन्होंने उसी दिन एन.डी.टी.वी. को बताया कि झप्पी का फैसला अचानक नहीं था। वह अपना अभिभाषण समाप्त करने के बाद सीट पर बैठ गए और बाद में उठ कर मोदी की तरफ चल पड़े। आंख मारने की घटना अचानक थी। जब वह इंडिया इंटरनैशनल सैंटर (आई.आई.सी.) पर चाय पार्टी के समय महिला पत्रकारों से मिले तो राहुल ने उनको बताया कि वह पिछले कुछ समय से इसके बारे में सोच रहे थे। राहुल ने इसके आगे कुछ नहीं बताया मगर उनके करीबी सूत्रों ने कहा कि राहुल गांधी ने ‘झप्पी’ डालने की अपनी योजना को काफी सोच-समझ कर अंजाम दिया। इन सूत्रों ने यह भी कहा कि सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी सहित पार्टी के भीतरी कोर ग्रुप ने भी ऐसी पहल के परिणामों पर चर्चा की थी।
PunjabKesari
सोनिया गांधी इस बात को लेकर कुछ चिंतित थीं कि यह संसदीय प्रोटोकॉल के अनुरूप नहीं मगर प्रियंका गांधी ने कहा कि मोदी ने बजट सत्र के दौरान अविश्वास प्रस्ताव की अनुमति न देकर प्रत्येक संसदीय प्रोटोकॉल को तोड़ा। अविश्वास प्रस्ताव पेश करना विपक्ष का जन्मसिद्ध अधिकार है मगर इन बातों को दरकिनार किया गया इसलिए ‘झप्पी’ डालना कोई गलत बात नहीं। बाद में राहुल की सोच को शुक्रवार को ‘एक्शन’ में बदल दिया गया।
PunjabKesari
वास्तव में राहुल गांधी का भाषण बहुत अच्छा था और वह इससे अति उत्साहित हो उठे तथा अपनी सीट पर बैठ गए। अचानक उन्होंने महसूस किया कि वह योजनाबद्ध झप्पी का मामला भूल गए हैं। वह अपनी सीट से उठे और अध्यक्ष व अन्य को हैरान कर दिया। वह एक मिनट तक बोले। अपनी सीट पर जाने की बजाय वह मोदी की तरफ बढ़े और उन्हें झप्पी डाल दी तथा प्रधानमंत्री को अपना पहला झटका दिया। अगले दिन अविश्वास प्रस्ताव गिरने की सुर्खियों की बजाय झप्पी के मुद्दे को लेकर सुर्खियां बनीं।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED संसद के बाद अब सड़क पर भी आंख मारते दिखे राहुल गांधी, वीडियो वायरल