Jet Airways को डूबने से बचाने के लिए नरेश गोयल दे सकते हैं बोर्ड से इस्तीफा

नई दिल्लीः भारी कर्ज से जूझ रही जेट एयरवेज को उबारने के लिए कंपनी के प्रमोटर नरेश गोयल चेयरमैन पद से इस्तीफा दे सकते हैं। इसके लिए वह सही समय का इंतजार कर रहे हैं। एक मीडिया रिपोर्ट के दावे के अनुसार, एतिहाद एयरवेज की ओर से जेट एयरवेज की ओर से सही कीमत लगने पर गोयल बोर्ड से इस्तीफा दे सकते हैं। आपको बता दें कि एतिहाज एयरवेज 150 रुपए प्रति शेयर के हिसाब से जेट एयरवेज के शेयर खरीदने का प्रस्ताव भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) को दे चुका है। 

मोलभाव कर रहे हैं गोयल 
जेट एयरवेज और एतिहाद एयरवेज सौदे की जानकारी रखने वाले के हवाले से प्रकाशित रिपोर्ट में दावा किया गया है कि कंपनी के संकट में होने का बाद भी नरेश गोयल मोलभाव कर रहे हैं। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि गोयल इस्तीफा देने को तैयार हैं, बस उन्हें सही कीमत मिलने का इंतजार है। हालांकि, गोयल के इस्तीफे के बारे में कंपनी ने कोई टिप्पणी नहीं की है। जानकारों का कहना है कि टेकओवर के जरिए कंपनी के प्रबंधन में बदलाव करने के लिए खरीदार को ओपन ऑफर लाना पड़ेगा।  

25% शेयरों के लिए ओपन ऑफर 
अगर टेकओवर द्वारा कंपनी के प्रबंधन में बदलाव होता है, तो नए खरीदार को 25 फीसदी अतिरिक्त शेयरों के लिए ओपन ऑफर लाना पड़ेगा। पिछले 52 सप्ताह में जेट एयरवेज का शेयर अधिकतम 830 रुपए, जबकि न्यूनतम 163 रुपए का स्तर छू (सोमवार को इसका शेयर 276 रुपए पर बंद हुआ) चुका है। सूत्र ने कहा कि एतिहाद ने 150 रुपए प्रति शेयर के हिसाब से जेट एयरवेज की कीमत 25 करोड़ डॉलर या लगभग 1,800 करोड़ रुपए लगाई है। जेट एयरवेज के कर्जदाताओं को जेट की कीमत कहीं अधिक कीमत मिली थी। 

जेट एयरवेज पर है 8200 करोड़ रुपए का कर्ज 
जेट एयरवेज इस समय भारी वित्तीय संकट से जूझ रहा है। कंपनी पर विभिन्न बैंकों पर 8200 करोड़ रुपए का कर्ज हैं। इन बैंकों के कंसोर्टियम का नेतृत्व एसबीआई कर रहा है। संभावना जताई जा रही है कि एतिहाद एयरवेज एक नए ऑफर के साथ एसबीआई से फिर से संपर्क कर सकता है। हालांकि, एतिहाद एयरवेज ने अभी जेट के लिए कीमत बढ़ाने को लेकर कुछ नहीं कहा है। 

Related Stories:

RELATED जेट एयरवेज पर नरेश गोयल का नियंत्रण खत्म, बैंक संभालेंगे कमान