जेट एयरवेज से छिन सकता है विदेशी उड़ान का अधिकार

नई दिल्लीः जेट एयरवेज का दोबारा संचालन न शुरू होने की स्थिति में सरकार इसके फॉरेन फ्लाइंग राइट्स अन्य एयरलाइन्स में बांटने जा रही है। एविएशन मिनिस्ट्री के एक अधिकारी ने कहा, 'जिन एयरलाइन्स ने आवेदन किया है हम उनको अधिकार देने पर विचार कर रहे हैं। ज्यादा मांग सिंगापुर, थाइलैंड और मध्य एशिया के लिए है।' 

इस कदम से जेट के लिए बोली लगाने वालों को चिंता हो सकती है। अधिकारी ने बताया इस बात को लेकर एयरलाइंस के साथ बैठक हुई है और आश्वासन दिया गया है कि जब जेट सक्षम हो जाएगी तो ये रूट उसे वापस कर दिए जाएंगे। 

PunjabKesari

अधिकारी ने कहा, 'हम जल्द से जल्द ये रूट दूसरी एयरलाइंस को दे देना चाहते थे लेकिन हम जेट का खरीदार निश्चित होने का इंतजार कर रहे थे। हमसे कहा गया कि अभी ये राइट दूसरे को न दिए जाएं।' कर्मचारियों और बैंकों ने सरकार से मांग की कि जेट एयरवेज के राइट तब तक दूसरों को न दिए जाएं जब तक खरीदार निश्चित नहीं हो जाता। 

PunjabKesari

जेट एयरवेज के लिए एतिहाद, टीपीजी और NIIF ने जेट को खरीदने की इच्छा जाहिर की थी लेकिन किसी ने अभी प्रक्रिया शुरू नहीं की है। बता दें कि एयर इंडिया के बाद जेट एयरवेज ही ऐसी एयरलाइंस थी जिसके पास सबसे ज्यादा फॉरेन कोटा था लेकिन इसके बंद होने की वजह से इंटरनैशनल रूट पर सप्लाइ कम हो गई है। इससे विदेश यात्रा का किराया भी बढ़ गया है। 

PunjabKesari
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!