JEE Main परीक्षा में हो चुके हैं कई बड़े बदलाव, परीक्षा से पहले जान लें

नई दिल्ली:  जॉइंट एंट्रेस एग्जाम की मेंस परीक्षा में कई नियमों में बदलाव किया गया है। परीक्षा का आयोजन जनवरी में किया जाएगा। अगर आप भी इसके लिए आवेदन करने जा रहे हैं तो आपको इन बातों का ध्यान रखना आवश्यक है...


स्लॉट का नहीं सिर्फ शहर का ही कर सकेंगे चुनाव-  उम्मीदवार अपने हिसाब से स्लॉट का चयन नहीं कर सकेंगे। एनटीए की ओर से तय किए गए स्लॉट में ही परीक्षा देना होगा।जेईई मेंस परीक्षा के लिए आवेदन करते वक्त उम्मीदवारों को सिर्फ शहर का चुनाव करने का मौका मिलेगा  


16 हजार की रैंक पर होगा एडमिशन- जेईई मेंस परीक्षा में चयन होने के बाद उम्मीदवारों को जेईई एडवांस परीक्षा में हिस्सा लेना होता है। इस बार 16 हजार वीं रैंक लाने पर भी उम्मीदवारों का एडमिशन हो सकेगा।

एनटीए नहीं करवाएगा एडवांस की परीक्षा- बता दें कि जेईई मेंस का आयोजन एनटीए की ओर से करवाया जाएगा, हालांकि एडवांस का आयोजन आईआईटी ही करवाएंगी। हर साल अलग अलग आईआईटी इस परीक्षा का आयोजन करेगा।


शनिवार और रविवार को ही होगी परीक्षा- एनटीए जेईई मेंस की परीक्षा का आयोजन जनवरी में शनिवार और रविवार के दिन ही जारी करेगा। साथ ही 5 अक्टूबर तक डेट और शिफ्ट का जानकारी दे दी जाएगी। 


दो बार परीक्षा- पहले जेईई मेंस परीक्षा का आयोजन साल में एक बार होता था, जबकि अब यह परीक्षाएं दो बार होंगी। इस परीक्षा में हिस्सा लेने वाले उम्मीदवारों को दो बार मौका मिलेगा। 


सीबीएसई नहीं करेगी परीक्षा का आयोजन- जेईई मेंस का आयोजन सीबीएसई की ओर से किया जाता था, लेकिन अब यह परीक्षा नेशनल टेस्टिंग एजेंसी करवाएगी।
 

× RELATED JEE- UGC NET परीक्षा के लिए स्टूडेंट्स को मिलेंगे कंप्यूटर