ऑफ द रिकॉर्डः JDU को मिल सकती हैं शत्रुघ्न और कीर्ति की सीटें

नेशनल डेस्कः शत्रुघ्न और कीर्ति आजाद की सीटें जद (यू) को मिल सकती हैं। बिहार में भाजपा और जनता दल (यू) के बीच सीटों के बंटवारे को लेकर शत्रुघ्न सिन्हा और कीर्ति आजाद तथा कुछ अन्य भाजपा सांसदों की सीटों की बलि दी जा सकती है। अब यह बात स्पष्ट होकर सामने आ गई है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लोकसभा चुनावों में भाजपा के साथ बने रहेंगे। दोनों दलों के नेता सीटों के बंटवारे को लेकर मतभेद दूर करने में लगे हैं। यद्यपि नीतीश कुमार 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए 40 में से 15 सीटें चाहते हैं। ऐसी संभावना है कि जद (यू) 10 सीटों पर राजी हो जाएगा।

भाजपाध्यक्ष अमित शाह अब शत्रुघ्न सिन्हा और कीर्ति आजाद जैसे बागी नेताओं को बाहर का रास्ता दिखाने के लिए नीतीश के कंधों का इस्तेमाल करेंगे। शत्रुघ्न सिन्हा पटना साहिब और कीर्ति आजाद दरभंगा से लोकसभा सदस्य हैं। जद (यू) ने पूर्णिया और नालंदा सीटों पर विजय हासिल की थी। भाजपा सुपोल (कांग्रेस) और अररिया (राजद) सीटें भी जद (यू) को दे सकती है। इसी तरह राकांपा के तारिक अनवर द्वारा जीती गई कटिहार सीट भी जद (यू) को दी जा सकती है। मधेपुरा सीट भी अदला-बदली में जद (यू) को मिल सकती है। ऐसे संकेत हैं कि उपिंद्र कुशवाहा की आर.एल.एस.पी. से एक सीट ली जा सकती है क्योंकि पार्टी का एक लोकसभा सांसद बागी हो गया है। 

× RELATED चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर के राजनीतिक सफर की हुई शुरुआत, JDU में हुए शामिल