ऑफ द रिकॉर्डः जयंत अडवानी गांधी नगर से चुनाव लड़ने के इच्छुक, लेकिन...

नेशनल डेस्कः भाजपा के वयोवृद्ध नेता एल.के. अडवानी के इकलौते पुत्र जयंत अडवानी ने पिछले महीने प्रधानमंत्री के साथ लम्बी बैठक की। मामला यह था कि क्या वयोवद्ध भाजपा नेता और गांधी नगर से मौजूदा लोकसभा सांसद एल.के. अडवानी अपने निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ने के इच्छुक हैं या नहीं। यद्यपि 90 वर्षीय अडवानी ने अभी तक राजनीति से अपनी सेवानिवृत्ति का संकेत नहीं दिया है। जयंत इस सीट से चुनाव लड़ने के इच्छुक हैं, मगर वह अपने पिता के साथ इस मामले पर चर्चा करने में अक्षम हैं। अंतत: अमित शाह ने यह जानने के लिए अडवानी से मुलाकात की कि क्या वह अपनी परम्परागत गांधी नगर लोकसभा सीट से 2019 में चुनाव लड़ना पसंद करेंगे या अपने पसंद के किसी व्यक्ति के लिए सीट छोड़ना चाहेंगे।
PunjabKesari
भाजपा नेतृत्व इन सभी विवादित सीटों की संभावनाओं का पता लगाने का इच्छुक है ताकि यह फैसला किया जा सके कि क्या 75 वर्ष से अधिक के वरिष्ठ नेताओं को फिर से इन सीटों पर चुनाव लड़ाया जाए या उनके बच्चों और रिश्तेदारों को वहां से टिकट दिया जाए। अमित शाह ने इस विषय को खुला छोड़ा कि क्या वयोवृद्ध नेता इन सीटों से चुनाव लड़ना चाहेंगे? अडवानी ने शाह की बात सुनी, मगर उन्होंने इस संबंधी कुछ नहीं कहा।
PunjabKesari
अमित शाह ने कहा कि पार्टी की गुजरात इकाई लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों की सूची शार्ट लिस्ट करना चाहती है। स्पष्ट है कि अडवानी इस संबंधी अपने विचार नहीं देना चाहते और यह फैसला पार्टी पर छोड़ देंगे।

PunjabKesari

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!