भारत से टू प्लस टू वार्ता  के तुरंत बाद मैटिस काबुल पहुंचे

काबुलःअमरीका के डिफेंस सेक्रेटरी जिम मैटिस शुक्रवार को अचानक अफगानिस्तान पहुंचे रिसोल्यूट सपोर्ट और यूएस फोर्स अफगानिस्तान के नए कमांडर से मुलााकत की । आर्मी जनरल स्कॉट मिलर को पिछले सप्ताह नई भूमिका दी गई थी। भारत में टू प्लस टू वार्ता खत्म करने के तुरंत बाद मैटिस काबुल पहुंचे हैं। इससे पहले अमरीकी विदेश मंत्री माइक पोंपियो ने इस्लामाबाद पहुंचकर इमरान खान से मुलाकात की थी।

अफगानिस्तान में आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे अमरीका के अभी भी करीब 14,000 सैनिक मौजूद हैं। इसी सप्ताह पोंपियो ने जालमे खलीलजाद को अफगानिस्तान का नया स्पेशल राजदूत नियुक्त किया था। खलीलजाद को अफगानिस्तान का स्पेशल राजदूत नियक्त करने के बाद पोंपियो ने कहा कि वह अफगान और तालिबान के मसले को सुलझाने के अवसरों को विकसित करने पर ध्यान केंद्रित करेंगे।

इससे पहले ज्वॉइंट स्टेटेमेंट में गुरुवार को नई दिल्ली में वार्ता के दौरान पोंपियो, मैटिस और उनके भारतीय समकक्षों ने "एक संयुक्त, संप्रभु, लोकतांत्रिक, समावेशी, स्थिर, समृद्ध और शांतिपूर्ण अफगानिस्तान के प्रति अपनी साझा प्रतिबद्धता की पुष्टि की।' वहीं, इसी सप्ताह जब पोंपियो इस्लामाबाद में थे, तो उन्होंने इमरान खान सरकार से अफगानिस्तान में शांति अमेरिका और पाकिस्तान दोनों के लिए फायदेंमद है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!