सिद्धू वायरल फीवर, शहर के 12 लाख लोग गंदगी की चपेट में

जालंधर (खुराना):पंजाब के लोकल बॉडीज मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू जहां इन दिनों वायरल फीवर की चपेट में हैं वहीं शहर के करीब 12 लाख नागरिक गंदगी की लपेट में आ गए हैं। सफाई कर्मचारियों की हड़ताल आज दूसरे दिन भी जारी रही जिस कारण हजारों टन कूड़ा शहर की सड़कों व डम्प साइट्स पर इकट्ठा हो गया है।

2 दिनों से शहर की सड़कों-गलियों में झाड़ू लगाने और घरों से कूड़ा उठाने का काम बंद पड़ा है जिस कारण लोगों को दिक्कतें पेश आने लगी हैं। शहर की सभी डम्प साइट्स कूड़े से लबालब हैं व अगर यह हड़ताल कुछ दिन और जारी रही तो शहर के हालात और ज्यादा खराब हो सकते हैं। हड़ताली सफाई कर्मचारियों ने आज भी प्रधान चंदन गरेवाल के नेतृत्व में धरना-प्रदर्शन किया जिस दौरान शहर के कांग्रेसी नेतृत्व को जमकर कोसा गया। यूनियन नेताओं तथा वाल्मीकि समाज द्वारा कम्पनी बाग चौक तक विशाल रोष मार्च भी निकाला गया और पंजाब सरकार का स्यापा किया गया।

चंडीगढ़ में रखी बैठक हुई स्थगित 
सफाई कर्मचारियों की मुख्य मांग यह है कि प्रदेश स्तरीय मांगों को मानने के लिए लोकल बॉडीज मंत्री या मुख्यमंत्री से उनकी बैठक करवाई जाए। इस मांग के चलते गत दिवस सांसद चौधरी संतोख सिंह तथा मेयर जगदीश राजा चंडीगढ़ गए थे ताकि नवजोत सिद्धू से समय लेकर यूनियन नेताओं की बैठक करवाई जा सके। कल सिद्धू इन नेताओं को नहीं मिल पाए थे और वीरवार को सिद्धू व यूनियन नेताओं के बीच बैठक निर्धारित हुई जिसका निमंत्रण मिलते ही यूनियन नेता चंडीगढ़ रवाना हो गए। अचानक चंडीगढ़ से सूचना आई कि नवजोत सिद्धू वायरल फीवर से पीड़ित हैं इसलिए बैठक स्थगित की जाती है और यह बैठक अब शुक्रवार को दोपहर 2 बजे चंडीगढ़ में होगी। माना जा रहा है कि अगर नवजोत सिद्धू फिट न हुए तो शुक्रवार वाली बैठक भी स्थगित हो सकती है जिस कारण हड़ताल और लम्बी ङ्क्षखच सकती है। आगे शनिवार और रविवार को सरकारी छुट्टियां होने के कारण सफाई और कूड़े की लिङ्क्षफ्टग का काम शुरू नहीं हो पाएगा जिस कारण हालात और बिगडऩे का अनुमान लगाया जा रहा है। 

Related Stories:

RELATED ऐसे लोग कभी नहीं होते विश्वास के काबिल