इन्वेस्टमेंट बैंकर होते हैं कंपनी के फाइनेंशियल बोन,जानें कैसे बना सकते हैं करियर

नई दिल्‍लीःअगर आपको बैंकिंग या फाइनेंस सेक्टर से लगाव है तो आपके लिए इन्वेस्टमेंट बैंकर की जॉब एक बेहतर ऑप्‍शन हो सकती है। इन्वेस्टमेंट बैंकर किसी भी कंपनी के बैक बोन की तरह से होता है, जो फाइनेंस से जुड़ी हर जिम्मेदारी को पूरा करने का काम करता है।

 

फाइनेंशियल प्लानिंग से लेकर कंपनी के फाइनेंस गोल को एचीव कराने जैसे कई काम उसके हिस्से में होते हैं। बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन या फाइनेंस में बैचलर डिग्री वालों के लिए ये फील्ड है। अगर आप बैंक पीओ से अलग कुछ करना चाहते हैं तो आपके लिए इन्वेस्टमेंट बैंकर की जॉब बेहतर होगी। आइए जानते हैं इस फील्ड के बारे में।

 

इन्वेस्टमेंट बैंकर यानी फाइनेंशियल डिपार्टमेंट बोन
किसी भी सरकारी अथवा प्राइवेट कंपनी में इन्वेस्टमेंट बैंकरों की एक भूमिका होती है। उन्हें संस्थान के फाइनेंशियल डिपार्टमेंट का बोन माना जाता है। इन्वेस्टमेंट  बैंकर का काम आर्थिक लेन-देन से जुड़े रिकॉर्ड का रख-रखाव, मॉडिफिकेशन, टेस्टिंग, डिवैलपमेंट, कंपनी कैपिटल, फंड, लोन, स्टॉक आदि पर काम करना होता है। उन्हें कंपनी के क्लाइंट को लोन  और इंवेस्ट कराने में सहयोग देना होता है। इन्वेस्टमेंट बैंकर अपनी बैंकिंग टीम के साथ वित्तीय रणनीति की रूपरेखा भी बनाते हैं।

 

इन कोर्स को करने वाले बन सकते हैं इन्वेस्टमेंट बैंकर
बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन और बैचलर ऑफ फाइनेंस इस जॉब के लिए शुरुआती योग्यता मानी जाती है। लेकिन ज्यादातर कंपनियां मास्टर डिग्री के बाद ही जॉब देती हैं। ऐसे में वे एमबीए, चार्टर्ड एकाउंटेंसी, कॉस्ट एंड मैनेजमेंट एकाउंटेंसी, कंपनी सेक्रेटरी, सीएफए  वालों को पसंद किया जाता है।

 

इन योग्यताओं का होना भी बहुत जरूरी
इस फील्ड में मैथ्स का अच्छा होना तो सबसे जरूरी है। साथ ही बेहतर कम्युनिकेशन स्किल और नए अवसरों को पहचानने का गुण होना जरूरी है।

 

यहां हैं जॉब के ऑप्‍शन
कमर्शियल बैंक इन्वेस्टमेंट बैंकिंग का सबसे बड़ा जॉब सोर्स है। ट्रेडिंग फर्म, कैपिटल मार्केट, लोन देने वाली कंपनियों में इन्वेस्टमेंट बैंकर की पोस्ट समय-समय पर निकलती रहती है। यहां प्रोफेशनल्स पोर्टफोलियो मैनेजर और फाइनेंशियल की पोस्ट पर काम कर सकते हैं। इसके अलावा कई और फर्म अपनी फाइनेंशियल प्लानिंग, खर्च, प्रोजेक्शन प्लानिंग व एसेट प्लानिंग के लिए ऐसे प्रोफेशनल्स को अपने यहां रखती हैं। हेल्थकेयर, टेक्नोलॉजी और एनर्जी जैसी इंडस्ट्री के अलावा मल्टीनेशनल कंपनियां आजकल इन्वेस्टमेंट बैंकरों को तलाश रही हैं। आप खुद की कंसल्टेंसी भी शुरू कर सकते हैं यानी फ्रीलांस सेवा किसी फर्म को देने जैसा।

 

आकर्षक सैलरी पैकेज
शुरुआती सैलरी 35-40 हजार रुपए हो सकती है लेकिन अगर आपके पास एक्सपीरियंस अच्छा है और बेहतर कांटेक्ट्स बन चुके हैं तो आप 60 से 70 हजार रुपए हर महीने कमा सकते हैं। कई प्रोफेशनल्स अपनी काबिलियत के बूते एक लाख रुपए तक हर महीने कमा रहे हैं।

 

इन कोर्स को दीजिए वरीयता
- एमबीए इन इन्वेस्टमेंट बैंकिंग
- बीए इन फाइनेंस एंड इन्वेस्टमेंट बैंकिंग
- पीजी डिप्लोमा इन बैंकिंग एंड फाइनेंस
- पीजी डिप्लोमा इन ग्लोबल इन्वेस्टमेंट
- डिप्लोमा इन इन्वेस्टमेंट बैंकिंग एंड इक्विटी रिसर्च
- यूजी प्रोग्राम इन पोर्टफोलियो मैनेजमेंट एंड इन्वेस्टमेंट बैंकिंग

Related Stories:

RELATED इस कंपनी ने पेश किया दुनिया का पहला 48MP कैमरे वाला स्मार्टफोन