इंटरव्यू के लिए तैयार करते समय रिज्यूमे में रखें इन बातों का ख्याल

नई दिल्ली : कई लोगों के साथ अक्सर यह होता है कि पढ़े लिखे होने  और एक्सपीरियस होने के बावजूद जब भी हम कोई नयी और बेहतर नौकरी लेने जाते हैं तो नहीं मिलती? एक रिसर्च के अनुसार उनके अफ़सर एक बायोडाटा पर अंदाजा सिर्फ 45 सेकंड ही लगाते हैं उसे परखने के लिए। अब आपका बायोडाटा इतना कमाल का होना चाहिए कि उतनी सी देर में आपकी एक बेहतर छवि बना दे ताकि आपको इंटरव्यू के लिए फ़ोन आ जाए। आज हम आपको बता रहे है एेसी ही कुछ बातों के बारे में जो आपके बायोडाटा में जरुरी होनी चाहिए।


रिज्यूमे में छोटे-छोटे सब-हैड बनाएं

इसमें आप अनुभव, योग्यता, स्किल आदि के अलग-अलग सबहैड बनाएं। उसके बाद उसमें पॉइंट्स के आधार पर अपनी बात रखें।


सही और एक ही फॉन्ट का इस्तेमाल करें

रिज्यूमे बनाते समय सही फॉन्ट का इस्तेमाल करें। इसके लिए आपको आकर्षक फॉन्ट का इस्तेमाल होना चाहिए और कभी भी ज्यादा डिजाइन आदि ना लगाएं और एक फॉर्मल फॉन्ट का इस्तेमाल करते हुए रिज्यूमे में इस्तेमाल करें।


अनुभव
काम का एक्सपीरियंस बहुत ज़रूरी है लेकिन उस से भी ज़रूरी है कि जिस नौकरी के लिए बायोडाटा भेज रहे हैं, उसकी ज़रूरतों के अनुसार आपका एक्सपीरियंस हो। उसे पेश भी उसी तरह से किया जाए मान लीजिये सेल्स की नौकरी है तो सेल्स से मिलता जुलता अनुभव बायोडाटा में मुख्य रूप से डालिये, बाकी किसी और काम का अनुभव है तो उसे ज़्यादा तूल मत दीजिये।

गलती ना हो

आपका रिज्यूमे भले ही क्रिएटिव नहीं हो, लेकिन कभी भी आपके सीवी में कोई गलती नहीं होनी चाहिए। इसमें स्पेलिंग और फैक्ट की कोई गलती नहीं होनी चाहिए।


स्किल्स
आजकल की बदलती दुनीया में, हर कंपनी यह चाहती है कि उसके कर्मचारियों के पास कुछ ऐसी स्किल्स हों जो उन्हें दूसरों से अलग कर दें।  जैसे कि कंप्यूटर की स्किल्स या कोई ऐसा ख़ास कोर्स आपने किया जो आपकी नौकरी में आपके काम आ सकता हो, उन्हें ज़रूर बायोडाटा में लिखिए।

उपलब्धियां
अपनी उपलब्धियों को हलके शब्दों में मत लिखिए बल्कि विस्तार से उनकी गहरायी में जाकर बताईये । एम्प्लॉयर यह जानने को उत्सक होते हैं कि अपनी पिछली नौकरी में आपने क्या जलवा दिखाया।  जैसे कि अगर आप सेल्स में हैं तो बताईये कि आपने कितना टारगेट पूरा किया, कंपनी की सेल को कहाँ से कहाँ पहुँचाया, कितने पैसे कंपनी के बचाये और ऐसी बातें जिनसे उन्हें अंदाज़ा लग सके कि आपकी उपलब्धियाँ सिर्फ कहने के लिए नहीं हैं, उनमें दम भी है।

शिक्षा
जितनी ज़्यादा पढ़ाई, उतने ज़्यादा चान्सेस कि आपको नौकरी मिल जायेगी।  ख़ास तौर पर अगर आपकी शिक्षा ऐसे क्षेत्र में हुई है जिसकी ज़रुरत कंपनी को है। विस्तारपूर्वक उसके बारे में बायोडाटा में लिखिए और उन तारीख़ों के साथ कि कौन से साल और महीने में कौन सा कोर्स ख़त्म हुआ।

Related Stories:

RELATED नई जॉब पाने के लिए ना लें झूठ का सहारा, वरना फंस सकता है मामला...