इंटरनैशनल एयरपोर्ट की 24 घंटे कनैक्टिविटी अब 10 अप्रैल से

चंडीगढ़(हांडा) : चंडीगढ़ इंटरनैशनल एयरपोर्ट की 10 अप्रैल से 24 घंटे कनैक्टिविटी शुरू हो जाएगी। एयरपोर्ट में कैट-3 के निर्माण को लेकर टाटा एस.ई.डी. व एयरपोर्ट अथॉरिटी के बीच चल रही नैगोसिएशन भी पूरी हो गई है। इसके बाद अब कैट-3 का निर्माण भी टाटा एस.ई.डी. ही करेगी। 

वह एयरपोर्ट अथॉरिटी के एस्टीमेट पर काम करने को तैयार हो गई है। इस संबंध में पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में चंडीगढ़ इंटरनैशनल एयरपोर्ट अथॉरिटी की ओर से एफीडैविट दिया गया है। एयरपोर्ट की 24 घंटे कनैक्टिविटी शुरू होने से एक दिन पहले यानी 9 अप्रैल को मामले की अगली सुनवाई होगी। सभी प्रतिवादियों को उस दिन विस्तृत स्टेटस रिपोर्ट देने को कहा गया है। 

कैट-3 पर खर्च होंगे 30.46 करोड़ रुपए :
एयरपोर्ट अथॉरिटी की ओर से दाखिल किए गए एफिडैविट में कहा गया है कि एयरपोर्ट पर कैट-3 के लिए लाइट्स लगाने व अपग्रेडेशन का काम टाटा एस.ई.डी. करने को मान गई है। एयरपोर्ट कमेटी द्वारा तैयार एस्टीमेट 30.46 करोड़ में ही टाटा काम करने को राजी हुई है जबकि पहले यही कंपनी दोगुना यानी 61.71 करोड़ मांग रही थी।

इसके बाद एयरपोर्ट अथॉरिटी और टाटा के बीच लंबी नैगोसिएशन चली। हाईकोर्ट की दखलंदाजी के बाद आखिरकार टाटा कमेटी के एस्टीमेट पर ही काम करने को मान गई और काम के दौरान फ्लाइट्स बाधित नहीं होंगी। 

अक्तूबर तक हर रविवार दोपहर तक बंद रहेगा :
एफिडेविट में कहा गया है कि मैंटीनैंस के चलते अक्तूबर-2019 तक हर रविवार व उसके बाद दूसरे व चौथे रविवार को दोपहर तक एयरपोर्ट बंद रहा करेगा, जबकि कैट-3 के निर्माण के वक्त जरूरत पडऩे पर एयरपोर्ट की कनैक्टिविटी पूर्व सूचना देकर रोकी जा सकती है।

यू.टी. ने भी अधिगृहीत की जमीन :
चंडीगढ़ प्रशासन की ओर से भी हाईकोर्ट में एफिडैविट देते हुए बताया गया कि एयरपोर्ट के नजदीक पड़ती 66 एकड़ जमीन का अधिग्रहण कर लिया गया है, जहां कोई निर्माण नहीं रहेगा और इस जमीन का इस्तेमाल एयरपोर्ट के लिए किया जा सकेगा।  

Related Stories:

RELATED चंडीगढ़ इंटरनैशनल एयरपोर्ट पर 24 घंटे फ्लाइट ऑप्रेशंस आज से, रनवे पर उतर सकेंगे बड़े जहाज