18 बुलेट ट्रेन खरीदने की तैयारी में भारत, जापान से मिलेगा सुरक्षा कवच

बिजनेस डेस्कः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट की शुरुआत युद्धस्तर पर हो चुकी है। भारत जापान के 18 शिंकनसेन बुलेट ट्रेन की खरीदारी करने जा रहा है। इसकी कीमत 7000 करोड़ रुपए होगी। एक ट्रेन में 10 कोच होंगे। यह ट्रेन 350 किलोमीटर प्रति घंटा की गति से चलने में सक्षम है।



3000 रुपए तक होगा किराया 
भारत में पहला बुलेट ट्रेन मुंबई-अहमदाबाद में चलने के लिए प्रस्तावित है। बुलेट ट्रेन में इस सफर के लिए 3000 रुपए तक किराया हो सकता है। बुलेट ट्रेन के मामले में जापान में शिंकनसेन का कोई मुकाबला नहीं है। बुलेट ट्रेन का विश्व में सबसे बड़ा नेटवर्क शिंकनसेन का है।



जापान सिखाएगा सेफ्टी टेक्नोलॉजी
बुलेट ट्रेन देने से पहले जापान भारत को सेफ्टी टेक्नोलॉजी भी सिखाएगा। जापान को भारत की सेफ्टी टेक्नोलॉजी को लेकर चिंता सता रही है। भारत में 2023 तक बुलेट ट्रेन चलाने का प्रस्ताव है, लेकिन सरकार वर्ष 2020 तक ही बुलेट ट्रेन चलाना चाहती है। हर साल भारत में लगभग 100 ट्रेन दुर्घटना होती है। पिछले पांच सालों में ट्रेन दुर्घटना में 560 लोगों की जान गई हैं। सेफ्टी टेक्नोलॉजी के मामले में हाल ही में भारत के रेलवे मंत्रालय ने जापान इंटरनेशनल कॉपरेशन एजेंसी (जेआईसीए) के साथ समझौता किया है। समझौते के तहत जेआईसीए भारत में अपने एक्सपर्ट भेजगा।

Related Stories:

RELATED जापान में 5.9 तीव्रता का भूकंप