पुलवामा हमले पर इमरान खान के बयान से कोई हैरानी नहीं: भारत

नेशनल डेस्क: पुलवामो हमले को लेकर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के बयान पर भारत ने जवाब दिया है। विदेश मंत्रालय ने कहा कि हमें इसका कोई आश्चर्य नहीं है कि पाकिस्तान के PM ने पुलवामा में हमारे सुरक्षा बलों पर हमले को आतंकवाद की कार्रवाई मानने से इनकार कर दिया। इमरान ने न तो इस जघन्य कृत्य की निंदा की और न ही शहीदों के परिवारों के प्रति कोई संवेदना प्रकट की।



विदेश मंत्रालय ने प्रेस कांफ्रेस कर कहा कि पाकिस्तान द्वारा आतंकवादियों से किसी भी प्रकार का संपर्क होने से इंकार करते समय इमरान खान ने जैश-ए-मोहम्मद के दावे को नजर अंदाज किया। यह एक ज्ञात तथ्य है कि जैश-ए-मोहम्मद और उसके नेता मसूद अजहर पाकिस्तान में है और यह सबूत पाकिस्तान द्वारा कदम उठाए जाने के लिए पर्याप्त होना चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि पाक के मंत्री आतंकवादी हाफिद सईद के साथ मंच सांझा करते हैं। 

विदेश मंत्रालय ने कहा कि यह खेदजनक है कि इमरान खान ने पुलवामा हमले पर भारत के जवाब को आगामी चुनाव से प्रेरित बताया है, भारत इसका खंडन करता है। हम मांग करते हैं कि पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय समुदाय को गुमराह करना बंद करे और पुलवामा हमले के षड्यंत्रकारियों के खिलाफ ठोस, स्पष्ट कार्रवाई करे।


बता दें कि इमरान खान ने भारत को चेतावनी दी कि उनके देश के खिलाफ कोई भी कार्रवाई किए जाने पर उसका जवाब दिया जाएगा। उन्होंने आरोप लगाया कि जब भी कश्मीर में कोई घटना होती है, तो भारत पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराता है और पाकिस्तान को बार-बार बलि का बकरा बनाता है। अफगानिस्तान मामले की तरह कश्मीर मामला भी वार्ता के जरिए सुलझाया जाएगा। 

Related Stories:

RELATED पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने होली की शुभकामनाएं दीं