अमरीका में भारतीय छात्रा ‘ यंग स्कॉलर’ अवार्ड के लिए चयनित

वॉशिंगटनःअमरीका की वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी में पढ़ रही भारत में जन्मी व पली बढ़ी  राजलक्ष्मी नंदकुमार को प्रतिष्ठित ‘बेरेन यंग स्कॉलर-2018’ अवार्ड के लिए चुना गया है। उन्होंने ऐसी तकनीक विकसित की है जिसकी मदद से एक साधारण स्मार्टफोन को शारीरिक गतिविधियों का पता लगाने में सक्षम एक सक्रिय सोनार सिस्टम में तब्दील किया जा सकता है। 


इस तकनीक से डिवाइस के साथ बिना शारीरिक संपर्क के शरीर में होने वाली गति और श्वसन जैसी शारीरिक गतिविधियों की प्रक्रिया को भांपकर बीमारी का पता लगाया जाता है। राजलक्ष्मी ने चेन्नई से कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग में स्नातक की डिग्री हासिल की है। उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट रिसर्च इंडिया के लिए भी काम किया है। उन्हें इस अवार्ड के अंतर्गत 5000 अमरीकी डॉलर की रकम मिलेगी। उनके माता-पिता मूल रूप से मदुरै के रहने वाले हैं।  

Related Stories:

RELATED अमेरिका में भारतीय मूल के दो व्यक्ति 6 करोड़ डॉलर की धोखाधड़ी के दोषी करार