रेस्टोरेंट में  रोबोट कर रहे वेटर का काम, 75% कम हो गया ग्राहकों बिल

शंघाईःचीन की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी द्वारा तैयार रोबोट अब रेस्टोरेंट में ऑर्डर लेने, खाना सर्व करने और बिल देने का काम कर रहे हैं। इससे जहां रेस्टोरेंट में अधिक लोगों के आकर्षित होने से रेस्टोरेंट  मालिकों को इसका लाभ हो रहा है  वहीं ग्राहकों को भी इसका फायदा मिल रहा है। रोबोट के सेवाएं देने से ग्राहकों  के खर्च में 75% की कमी आई। दरअसल, यहां दो लोगों के खाने का खर्च करीब 300-400 यूआन (3300-4400 रुपए) आता था।


रोबोट सिस्टम लागू होने के बाद रेस्टोरेंट 100 यूआन ही चार्ज करता है। भविष्य में इस तरह के रेस्टोरेंट बनाने के लिए यह कॉन्सेप्ट चीन की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा ने तैयार किया है। कंपनी का प्लान रोबोट और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस की मदद से सभी सेक्टरों में बदलाव करना है। फिलहाल कंपनी ने लेबर काॅस्ट घटाने के लिए रोबोट की कार्यक्षमता बढ़ाई है। ओवन के साइज के रोबोट वेटर की जगह काम कर रहे हैं। अलीबाबा के प्रोडक्ट मैनेजर काओ हैतो ने बताया, "शंघाई में एक वेटर को हर महीने 10 हजार यूआन (करीब 11 लाख रुपये) देने पड़ते हैं। रेस्टोरेंट में उनकी दो शिफ्ट लगती हैं, जिससे काफी रुपए खर्च होते हैं।

वहीं, रोबोट पूरे दिन लगातार काम करते रहते हैं। अलीबाबा ने इन रोबोट को सुपरमार्केट चेन हेमा में भी इस्तेमाल किया है। इन स्टोर्स में लोग मोबाइल ऐप से सामान चुनते हैं और रोबोट उसे डिलीवर कर देते हैं। अलीबाबा ने इस वक्त चीन के 13 शहरों में 57 हेमा सुपरमार्केट खोल रखे हैं। इनमें रोबोट ही सारा काम करते हैं।   अलीबाबा की विरोधी ई-कॉमर्स कंपनी जेडी डॉट कॉम ने भी 2020 तक ऐसे एक हजार रेस्टोरेंट खोलने का दावा किया है, जिनमें रोबोट काम करेंगे। चीन में जेडी समेत अन्य कंपनियां ड्रोन से सामान पहुंचाने का नेटवर्क बनाने की कोशिश में हैं।

Related Stories:

RELATED नकली सूरज बनाने में लगा ये देश,  देगा असली को मात