चेक-इन में ज्यादा बैग तो 1 फरवरी से जेब करनी होगी ढीली, IGI Airport पर लगेगा स्कैनिंग चार्ज

नई दिल्लीः अगर आप डोमेस्टिक और इंटरनेशनल के लिए एयरपोर्ट जा रहे हैं और आपके साथ चेक इन लगेज बैग ज्यादा है तो आपको वेट के साथ अब  स्कैनिंग के लिए शुल्क देना होगा। लेकिन ये पैसा आपको सीधे नहीं देना बल्कि एयरलाइंस को देना होगा, और एयरलाइंस ये पैसा आपसे टिकटों के साथ वसूलेगी। ये व्यवस्था 1 फरवरी ने टी-3 एयरपोर्ट पर लागू हो जाएगी। बताया जाता है कि ये निर्णय डायल एजेंसी ने लिया है।


इस संबंध में डायल का कहना है कि सीआईएसएफ ने सिक्योरिटी के रेटों में बढ़ोतरी की है, जिसको पूरा करने के लिए ये व्यवस्था लागू की गई है। घरेलू मार्गों के लिए उड़ान भरने वाले प्रत्येक विमान पर 110 से 880 रुपए का शुल्क लगाया जाएगा। वहीं अंतरराष्ट्रीय मार्गों के लिए उड़ान भरने वाले विमानों के लिए यह शुल्क 149.33 डॉलर से 209.55 डॉलर प्रति विमान होगाइससे दिल्ली हवाई अड्डे से उड़ान पकडऩे वाले यात्रियों को अपनी जेब 50 रुपए तक अधिक ढीली करनी पड़ सकती है।

भारतीय हवाईअड्डा आर्थिक नियामक प्राधिकरण (एरा) के आदेश के अनुसार अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में बड़े विमान पर यह शुल्क 209.55 डॉलर (14,908 रुपए) और छोटे विमानों पर 149.33 डॉलर (10,624 रुपए) प्रति विमान होगा। इस फैसले से दिल्ली हवाई अड्डे से यात्रा करने वाले यात्रियों को अपनी जेब 50 रुपए तक अधिक ढीली करनी होगी, क्योंकि माना जा रहा है कि एयरलाइंस एक्स-रे बैगेज शुल्क का बोझ यात्रियों को स्थानांतरित करेंगी। एरा के 10 जनवरी के चार पृष्ठ के आदेश के अनुसार डायल एक फरवरी से एक्स-रे बैगेज शुल्क लगा सकती है।

एक एयरलाइन के अधिकारी ने कहा कि एक्स-रे बैगेज शुल्क का बोझ यात्रियों पर डाला जाएगा। एक सूत्र ने कहा कि घरेलू उड़ान पकडऩे वाले यात्री पर एक्स-रे बैगेज शुल्क पांच रुपए से अधिक नहीं बैठेगा। वहीं अंतरराष्ट्रीय उड़ान पर यह 50 रुपए से अधिक नहीं होगा। घरेलू मार्गों पर 25 सीटों के विमान पर यह शुल्क 110 रुपए और 26 से 50 सीटों के विमान पर 220 रुपए होगा। 50 से 100 सीटों के विमान पर शुल्क 495 रुपए और 101 से 200 सीटों के विमान पर 770 रुपए और 200 सीटों से अधिक के विमान पर 880 रुपए होगा।

Related Stories:

RELATED 4 पेटी अवैध शराब बरामद, आरोपी फरार