ICICI की पूर्व CEO चंदा कोचर के खिलाफ CBI ने जारी किया लुकआउट नोटिस

मुंबईः वीडियोकॉन लोन मामले में आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व सीईओ चंदा कोचर और उनके पति दीपक कोचर की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। सीबीआई ने चंदा कोचर, दीपक कोचर और वीडियोकॉन के मैनेजिंग डायरेक्टर वेणुगोपाल धूत के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर (LoC) जारी किया है। पिछले महीने जांच एजेंसी ने साल 2009 से 2011 के बीच वीडियोकॉन ग्रुप को बैंक से 1,875 करोड़ के छह लोन में कथित तौर पर भ्रष्टाचार के सिलसिले में उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी। लुकआउट सर्कुलर जारी होने के बाद तीनों देश से बाहर नहीं जा सकेंगे। 

चंदा कोचर के खिलाफ पहली बार जारी हुआ LOC
एक अधिकारी ने बताया, ‘सीबीआई के पिछले साल प्रीलिमनरी इंक्वायरी की रिपोर्ट फाइल करने के बाद दीपक कोचर और वेणुगोपाल धूत के खिलाफ सभी एयरपोर्ट को लुकआउट सर्कुलर की जानकारी दी गई थी। अब इसे फिर से रिवाइव किया गया है।’ हालांकि, आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व चीफ के खिलाफ पहली बार LOC जारी किया गया है। सीबीआई की तरफ से 22 जनवरी को दर्ज एफआईआर में उनका नाम था, इसलिए उन्हें भी इसके दायरे में लाने का फैसला किया गया है। 

इस खबर पर चंदा कोचर और धूत की प्रतिक्रिया नहीं मिल सकी। एक अधिकारी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया, ‘एफआईआर के बाद लुकआउट नोटिस फाइल किए गए थे। इस केस में जिस तरह के आर्थिक अपराध के आरोप लगे हैं, उनमें LOC किया जाना लाजिमी है। हाल में आरोपियों के ट्रैवल प्लान पर नजर रखना रेगुलेटर्स की प्राथमिकता में शामिल रहा है।’ 

चंदा कोचर का नाम जोड़ना ठीक नहीं 
वहीं, इस केस से वाकिफ एक वकील ने बताया कि सीबीआई को लुकआउट सर्कुलर जारी करने की जरूरत नहीं थी क्योंकि चंदा कोचर का आईसीआईसीआई बैंक के पूर्व सीईओ के तौर पर ऊंचा प्रोफाइल रहा है। उन्होंने नाम नहीं जाहिर करने की शर्त पर बताया, ‘पहले जो लोग गंभीर आर्थिक अपराध के आरोप के बाद देश से फरार हो गए थे, उनके साथ चंदा कोचर का नाम जोड़ना ठीक नहीं होगा। वह फाइनैंशल सर्किल में जानी-मानी हस्ती हैं। उनके खिलाफ जो भी आरोप लगाए गए हैं, उनमें से अभी तक एक भी सही साबित नहीं हुआ है।’ पिछले कुछ साल में नीरव मोदी, विजय माल्या और मेहुल चोकसी जैसे गंभीर आर्थिक अपराध के आरोपी देश से फरार हो गए थे। 

कोचर को तलब कर सकता है ED 
एन्फोर्समेंट डायरेक्टरेट (ईडी) मनी लॉन्ड्रिंग के केस में चंदा कोचर और दीपक कोचर को पूछताछ के लिए जल्द ही बुला सकता है। यह जानकारी इस मामले से वाकिफ सूत्रों ने दी है। ईडी दीपक कोचर से उनकी कंपनियों के वीडियोकॉन ग्रुप के चेयरमैन वेणुगोपाल धूत के साथ रिश्तों के बारे में पूछताछ करना चाहता है। वहीं, वह चंदा कोचर से आईसीआईसीआई बैंक की तरफ से वीडियोकॉन ग्रुप को दिए गए लोन के बारे में सवाल-जवाब कर सकता है। जांच एजेंसी कोचर दंपती की संपत्तियों की भी जांच करना चाहती है, जिसमें उनका साउथ मुंबई का अपार्टमेंट भी शामिल है। ईडी ने हाल ही में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के साथ मीटिंग की थी, जो कथित टैक्स अनियमितताओं को लेकर कोचर दंपती की जांच कर रहा है। 

Related Stories:

RELATED ईडी दफ्तर में ICICI की पूर्व सीईओ चंदा कोचर से लगातार तीसरे दिन पूछताछ