डीजीपी पद से हटने के बाद वैद का बयान, घाटी में हिंसा समाप्त नहीं हुई है

श्रीनगर : जम्मू.कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डी.जी.पी.) के पद से हटाए जाने के बाद पूर्व डी.जी.पी. एस.पी. वैद ने कहा कि वह अपनी वर्दी को मिस करेंगे। बताया जा रहा है कि एसपी वैद को नव नियुक्त राज्यपाल सत्य पाल मलिक के साथ गंभीर मतभेदों और अपहरण किए गए पुलिसकर्मियों के परिवार के सदस्यों के बदले में आतंकवादियों के रिश्तेदार को रिहा करने के बाद विवाद के बीच डी.जी.पी. के पद से हटा कर राज्य के परिवहन आयुक्त में तबादला कर दिया गया है।

PunjabKesari
एक साक्षात्कार में एस.पी. वैद ने कहा कि मैं अपनी वर्दी को मिस करूंगा। वर्दी में गर्व और संतुष्टि की भावना होती है।  बाकी की बचे सेवा में यह वर्दी काफी याद आएगी। पूर्व पुलिस चीफ  वैद ने आगे कहा कि वह कश्मीर में हिंसा और हत्याओं के चक्र को समाप्त करना चाहते थे, हालांकि, घाटी में हिंसा में कमी आई है, मगर यह पूरी तरह से समाप्त नहीं हुआ है।
20 महीने तक राज्य पुलिस का नेतृत्व करने वाले वैद ने कहा कि मैं कामना करता हूं कि नए डी.जी.पी. और पुलिस बल इस काम को पूरा करेंगे। गौरतलब है कि अब एस.पी. वैद की जगह दिलबाग सिंह राज्य के नए डीजीपी होंगे। दिलबाग सिंह 1987 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं और फिलहाल डीजीपी प्रिजन हैं। वहीं एसपी वैद को अब ट्रांसपोर्ट कमिश्नर बना दिया गया है।

PunjabKesari
बताया जा रहा है कि हाल ही में घाटी में पुलिसकर्मियों के परिवारवालों को आतंकियों से छुड़ाने के बदले एक आतंकी के पिता को छोड़ा गया था। माना जा रहा है कि केंद्र सरकार इससे नाख़ुश थी, जिसके बाद पुलिस विभाग के आला अधिकारियों में फेरबदल किया गया। एस.पी. वैद के डिप्टी अब्दुल गनी मीर की जगह डॉ बी श्रीनिवास को लाया गया है।
इससे पहले एसपी वैद ने ट्वीट करके कहा कि मैं भगवान का शुक्रगुजार हूं कि उन्होंने मुझे अपने लोगों और अपने देश की सेवा का मौका दिया। जम्मू-कश्मीर पुलिस, सुरक्षा एजेंसियां और जम्मू कश्मीर के लोगों ने मुझमें विश्वास दिखाया और मेरा साथ दिया, इसके लिए उनका शुक्रगुजार हूं, नए डीजीपी को मेरी शुभकामनाएं।


 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED केन्द्र ने जम्मू-कश्मीर में गरीब परिवारों को दिया प्रोत्साहन पैकेज