सर्जिकल स्ट्राइक के हीरो रहे लेफ्टिनेंट जनरल हुड्डा की सफाई, मैंने कांग्रेस ज्वाइन नहीं की

नई दिल्लीः पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में 2016 में की गई सर्जिकल स्ट्राइक के कमांडर रहे रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल डी एस हुड्डा ने कांग्रेस ज्वाइंन करने की खबरों का खंडन किया है। लेफ्टिनेंट हुड्डा ने कहा कि वे कांग्रेस में शामिल नहीं हुए हैं बल्कि राष्ट्रीय सुरक्षा पर कांग्रेस पार्टी की ओर से गठित किए जा रहे टास्क फोर्स की अगुवाई कर रहा हूं। उल्लेखनीय है कि हुड्डा को गुरुवार को सुरक्षा मामलों पर कांग्रेस के ‘कार्य बल’ का प्रमुख बनाया है। यही कार्य बल विशेषज्ञों की मदद से राष्ट्रीय सुरक्षा पर पार्टी का दृष्टि पत्र तैयार करेगा।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ मुलाकात के बाद सोशल मीडिया पर चर्चा थी कि उन्होंन कांग्रेस का हाथ थाम लिया है। इसको लेकर लोगों की तरह-तरह की प्रतिक्रिया आ रही थी। हालांकि कांग्रेस ने पहले ही ट्विटर पर साफ कर दिया था कि हुड्डा टास्क फोर्स का नेतृत्व करेंगे और विशेषज्ञों के साथ विचार-विमर्श के साथ विजन पेपर तैयार करेंगे। बता दें कि लेफ्टिनेंट जनरल हुड्डा 29 सितंबर 2016 को पाकिस्तान पर हुए सर्जिकल स्ट्राइक के समय सैन्य कमांडर थे और यह सैन्य कमांडर उत्तरी कमान का अगुआ होता है। जनरल हुड्डा सर्जिकल स्ट्राइक के वक्त इस अभियान की निगरानी कर रहे थे।

Related Stories:

RELATED Hooda के नेतृत्व में क्या एकजुट हो पाएगी Haryana Congress ?