पति ने भाइयों संग मिलकर किया था पत्नी का मर्डर

मोहाली (कुलदीप):खरड़ गिल्को सिटी क्षेत्र में सविता देवी नाम की महिला का कत्ल उस के पति और देवरों ने ही मिल कर किया था। पुलिस ने इस कत्ल केस को चार दिनों में हल करके तीन आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। 

 

गिरफ्तार किए गए आरोपियों में पिंटू सिंह (पति), राज कुमार, अमित बताए जाते हैं जबकि चौथा आरोपी दीपक अभी फरार चल रहा है।  एस.एस.पी. मोहाली हरचरन सिंह भुल्लर ने आज यहां प्रेस कांफ्रैंस को संबोधन करते हुए बताया कि 14 मार्च को क्रिपाल सिंह बाजवा निवासी गिल्को वैली खरड़ ने थाना सिटी खरड़ पुलिस को सूचना दी थी कि उस का प्लाट गिल्को सिटी खरड़ में में है। 

 

जब वह 14 मार्च को प्रात: काल अपने प्लाट पर गया तो उस ने देखा कि उस के प्लाट के साथ बनीं दुकानों की बैकसाइड बनी सड़क के किनारे किसी महिला की लाश पड़ी हुई है। इस बारे 14 मार्च को थाना सिटी खरड़ में धारा 302 और 34 के अंतर्गत केस दर्ज किया गया था।

 

पत्नी पर नाजायज संबंधों का शक बना कत्ल का कारण
एस.एस.पी. ने बताया कि और जांच करने पर यह बात सामने आई कि सविता की पिछले काफी समय से अपने पति पिंटू के साथ अनबन चली आ रही थी और वह अपने पति से अलग रह रही थी। 

 

पिंटू को शक था कि उस की पत्नी के किसी और व्यक्ति के साथ नाजायज संबंध हैं। इसी शक पर उस ने अपने भाई अमित, दीपक और राम कुमार के साथ मिल कर सविता का कत्ल कर दिया।

 

जांच के लिए बनाई थी विशेष टीम
भुल्लर ने बताया कि इस कत्ल की गुत्थी को सुलझाने के लिए एस.पी. (इन्वैस्टीगेशन) मोहाली वरुण शर्मा की निगरानी नीचे डी.एस.पी. खरड़ दीप कमल, डी.एस.पी. ( इन्वैस्टीगेशन) मोहाली गुरदेव सिंह धारीवाल, सी.आई.ए. मोहाली के इंचार्ज इंस्पैक्टर सतवंत सिंह तथा एस.एच.ओ. सिटी खरड़ इंस्पैक्टर भगवंत सिंह पर आधारत विशेष जांच टीम बनाई गई थी। 

 

टीम द्वारा मामले की पूरी बारीकी से छानबीन की गई। जांच दौरान मृतका की पहचान सविता पत्नी पिंटू निवासी किराएदार नजदीक गुरु नानक पब्लिक स्कूल बलौंगी के तौर पर हुई। जांच टीम अलग-अलग इस नतीजे पर पहुंची कि सविता देवी का कत्ल उस के पति पिंटू ने अपने भाईयों के साथ मिल कर किया है।

 

सिर में हथौड़ी और पत्थर मारकर की थी हत्या
उन्होंने बताया कि 13 मार्च को आरोपी अमित ने अपनी भाभी सविता को फोन पर मिलने के लिए बुलाया। फिर उसे थ्री-व्हीलर में बिठा कर खरड़ गिल्को वैली ले गया। उसने रात करीब पौने नौ बजे के करीब बाकी आरोपियों से मिल कर सविता के सिर में हथौड़ी और पत्थर मार कर उसका कत्ल कर दिया और मौके से अपने थ्री-व्हीलर में बैठ कर फरार हो गए। 

 

इस दौरान जल्दी में पिंटू की दुकान की चाबियां मौके पर गिर गई। फिर दोबारा आरोपी दीपक तथा अमित देर रात अपने स्कूटर पर मौका देखने आए तो दीपक ने फिर सविता के सिर में पत्थर मार कर यह यकीनी बनाया कि वह मर चुकी है परन्तु उन को काफी ढूंढने के बाद भी चाबियां नहीं मिलीं। 

Related Stories:

RELATED एजैंट पति-पत्नी और साले के खिलाफ धोखाधड़ी करने पर एफ.आई.आर. दर्ज