पूरे ब्रिटेन की बिजली की जरूरत पूरी करने में सक्षम है चीन

 बीजिंगःदुनिया के किसी भी अन्य देश की तुलना में चीन सबसे ज्यादा सौर ऊर्जा बना रहा है।   एक्सपर्ट्स के मुताबिक, चीन 130 गीगावॉट (13 हजार करोड़ किलोवॉट) सौर ऊर्जा तैयार कर रहा है जिससे ब्रिटेन की बिजली की जरूरत कई बार पूरी हो सकती है। चीन ने दुनिया का सबसे बड़ा सोलर प्लांट तेंगर रेगिस्तान में लगाया है।

इसकी क्षमता 1500 मेगावॉट है। तिब्बत के पठार पर बनाए 850 मेगावॉट के फार्म में 40 लाख सोलर पैनल लगाए गए हैं। एक मार्कीट रिसर्च फर्म ब्लूमबर्ग न्यू एनर्जी फाइनेंस की यवोन लियु की मानें तो सौर पैनल बनाने वाले देशों में चीन दुनिया में अव्वल है।

इंटरनेशनल एनर्जी एजेंसी (आईईए) के मुताबिक, दुनिया के 60% सोलर पैनल चीन ही तैयार कर रहा है।  चीन में अभी भी दो तिहाई बिजली कोयले पर आधारित संयंत्रों से आती है। राजधानी बीजिंग समेत औद्योगिक शहरों में प्रदूषण एक भयंकर समस्या है, जिसके चलते चीन कोयले की खपत कम करना चाहता है। 

Related Stories:

RELATED दक्षिण-चीन सागर को लेकर चीन की अमेरिका को दो टूक