MP Election: शाह का दावा- 'बुंदेलखंड में आज का परिवर्तन, BJP की देन'

बुंदेलखंड: मध्यप्रदेश विधानसभा के लिए 28 नवंबर को चुनाव होने हैं। ऐसे में पार्टी का प्रचार का जिम्मा आलाकमान के कंधों पर हैं। बीजेपी के लिए पीएम मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को मध्यप्रदेश में अलग अलग जगहों पर जनसभाओं को संबोधित किया। बुंदेलखंड क्षेत्र के टीकमगढ़ जिले की पांच सीटों जतारा, पृथ्वीपुर, टीकमगढ़, निवाड़ी एवं खरगापुर में अमित शाह ने जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। शाह ने BJP द्वारा किए विकास कार्यों के बारे में जनता को अवगत करवाया। 

शाह ने कहा कि...  
.
बुंदेलखंड इलाके में जो परिवर्तन दिखाई दे रहा है, वह भाजपा के राज में हुआ है। बुंदेलखंड के विकास के लिए मध्यप्रदेश की हमारी भाजपा सरकार ने कई काम किये हैं।

. MP में भाजपा की सरकार बनने के बाद बुंदेलखंड का पैकेज आया तो, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उसका उपयोग करते हुए एक पिछड़े हुए बुंदेलखंड को विकसित बुंदेलखंड बनाने का एक सुनिश्चित प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि उत्तरप्रदेश में भी अब तो बीजेपी योगी आदित्यनाथ का शासन आ गया है। एक साल से योगीजी ने वहां (उत्तरप्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र) पर विकास करने का काम चालू किया है। 

. केन्द्र की मोदी सरकार ने 129 जनकल्याणकारी योजनायें लागू की है, जिनसे देश एवं मध्यप्रदेश के करोड़ों लोग लाभान्वित हो रहे हैं।

.शाह ने कहा कि वर्ष 2014 से अब तक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा देश के 19 राज्यों में विजयी रही है यह सिलसिला मध्यप्रदेश में जारी रहेगा और यहां भी शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में ही चौथी बार बीजेपी की सरकार बनेगी।



कांग्रेस पर साधा निशाना 
.
कांग्रेस पर हमला जारी रखते हुए शाह ने कहा, ‘‘कांग्रेस का न नेता तय है, न नीति तय है, न सिद्धांत हैं। वह सत्ता के लिए लालायित है। उनको लोगों की चिंता नहीं है। उनके (कांग्रेस) दिलों में गरीब, दलित, आदिवासियों, किसानों और महिलाओं की चिन्ता नहीं है। उन्हें गांव और शहर के विकास की भी चिन्ता नहीं है।'' 
 

.  कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस तमाम राज्यों में विधानसभा चुनाव हार चुकी है। इसके बावजूद भी वे मध्यप्रदेश में सरकार बनाने के सपने देख रहे हैं।

. 15 वर्ष पूर्व कांग्रेस के दिग्विजय सरकार में राज्य के हालात पर कहा कि दिग्विजय सिंह सरकार में बिजली नहीं थी, लेकिन आज शिवराज सरकार के प्रयासों से समूचे राज्य के गांव-गांव में बिजली पहुंची है। शिवराज ने मध्यप्रदेश को बीमार राज्य की श्रेणी से निकाल कर विकसित राज्यों की कतार में ला खड़ा किया।

.  केंद्र की सोनिया-मनमोहन सरकार ने 13वें वित्त आयोग के तहत विकास के लिए मध्यप्रदेश को सिर्फ 1.34 लाख करोड़ रूपया दिया था , जबकि मोदी सरकार ने 14वें वित्त आयोग के तहत 3.44 लाख करोड़ रूपये से ज्यादा दिया।

 

 

Related Stories:

RELATED MP Election: किसका होगा मध्यप्रदेश ? पढ़िए आज की बड़ी खबरें