कृषि के क्षेत्र में देश का नेतृत्व करे हरियाणा: कोविंद

गन्नौरः  राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कृषि और इससे संबंधित क्षेत्रों में हरियाणा की प्रगति की सराहना करते हुए आज कहा कि कृषि के क्षेत्र में उसे देश का नेतृत्व करना चाहिए।  कोविंद ने चौथे कृषि नेतृत्व शिखर सम्मेलन के समापन समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि कृषि के क्षेत्र में विकास के लिए निरंतर नवाचार की जरूरत है। उन्होंने कहा कि इस आयोजन के दौरान लगभग डेढ़ लाख किसानों ने नयी प्रौद्योगिकियों की जानकारी ली है, जिससे उन्हें उन्नत खेती के क्षेत्र में लाभ होगा। उन्होंने कहा कि सरकार ने कृषि के क्षेत्र में कई नयी योजनायें शुरू की हैं और सिंचाई की लगभग 100 योजनाओं को पूरा करने का प्रयास किया जा रहा है।

इन योजनाओं का उद्देश्य कृषि क्षेत्र को लाभकारी बनाना है ताकि किसान का बच्चा भी किसान बने। हरियाणा ने उन्नत खेती में बहुत योगदान किया है। यहां परंपरागत खेती के साथ आज आधुनिक तकनीक की मदद से भी खेती किये जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि अन्नदाता के लिए सरकार ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की शुरूआत की है, जिससे जमीन रखने वाले हर किसान को छह हजार रुपये की आर्थिक सहायता तीन समान किस्तों में दी जायेगी। ये लाभ पांच एकड़ से कम भूमि रखने वाले किसानों को मिलेगा।  

Related Stories:

RELATED हरियाणा: देश में पहली बार सीवरेज की सफाई करेगा रोबोट