रिपेयर न होने के कारण खंडहर हो रही हैं हरियाणा परिवहन की एसी बसें

चंडीगढ़ (धरणी):हरियाणा की शान वॉल्वो बस जो पर्यटकों को इंटरनेशनल और डोमेस्टिक एयरपोर्ट के साथ पर्यटन स्थलों तक बेहतर परिवहन सुविधा दे रही थी वो आज धूल फांक रही है। सभी बसें अपने निर्धारित किलोमीटर पूरे कर चुकी हैं। हरियाणा सरकार ने पिछले चार साल से कोई नई बस नहीं खरीदी गई है। चालक संघ के प्रधान शमशेर सिंह ने बताया कि सरकार ने इन बसों को परिवहन के बेड़े में शामिल किया। इन बसों ने लोगो को बेहतर सुविधा भी प्रदान की जिसे लोगों ने पसंद भी किया। लोग अपने निजी वाहनों की बजाय इन बसों में जाना अधिक पसंद करते हैं।



उन्होंने बताया कि हरियाणा रोडवेज के चंडीगढ़ डिप्पु में ऐसी 20 बसें आई जिनमें से केवल 8 बसें ही चल रही हैं, कुछ हल ही में रिपेयर होकर आई है। बाकि बसें धूल फांक रही है इससे आम लोगों के साथ साथ सरकार को भी नुकसान हो रहा है। चंडीगढ़ के साथ साथ 20 गाडिय़ां गुरुग्राम डिपो को दी गई थी, जिनमें से अब 2 गाडिय़ां अब करनाल डिपो को दी गई हंै। वॉल्वो बसों के चलते चलते अचानक ब्रेक लगने की शिकायत को लेकर शमशेर सिंह ने बताया की अधिकारीयों और सरकार की लापरवाही के कारण इनकी रिपेयर नहीं हुई है।



वही यूनियन प्रधान बलवान ने बताया की हमारे पास ऐसी 10 वॉल्वो और 10 बेंज बस आई थी। उन्होंने बताया की इनकी निर्धारित किलोमीटर केवल 10 लाख किलोमीटर होती है वहीं यह बसें 15 लाख किलोमीटर तय कर चुकी हंै। उन्होंने कहा कि यदि समय पर इनकी देख रेख हो तो यह और अधिक सेवाएं दे सकती हैं। उन्होंने कहा की यात्रियों की भी इन बसों को लेकर मांग है लेकिन सरकार नई बसें नहीं ला रही। उन्होंने कहा की सरकार प्राइवेट बसों को लाकर चहेते लोगो को फायदा पहुंचा रही है। 



परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार का भी कहना है कि प्रदेश में एसी बसों की कमी है और जो पहले की बसें है उनका समय पूरा हो गया है। उन्होंने बताया कि इस साल 350 नई बसें खरीदी जाएंगी। जिनमें 150 डीलक्स एसी श्रेणी की होंगी। इस निर्णय को उच्चस्तर से भी मंजूरी दे दी गई है। जल्द ही सभी जिलों में इन बसों को भेजा जाएगा और यात्री इसका लाभ ले सकेंगे।  

Related Stories:

RELATED रिपेयर न होने के कारण खंडहर हो रही हैं हरियाणा परिवहन की एसी बसें