हरियाणा: विधान सभा सत्र में विज ने मेडल जीतने वाले खिलाडिय़ों पर की करोड़ों की बौछार

चंडीगढ़: हरियाणा विधानसभा के मानसून सत्र के दूसरे दिन की कार्रवाई आज शुरू हो गई है। इस दौरान कांग्रेस पार्टी के लोग घोड़ा गाड़ी से विधानसभा पहुंचे। वहीं सदन में खेल मंत्री अनिल विज और कांग्रेसियो में हुई बहस के कारण 20 मिनट विलम्ब से प्रश्नकाल शुरू हुआ। हरियाणा विधानसभा सत्र की आज सोमवार की बैठक गर्मागर्म बहस के साथ शुरू हुई है।

अनिल विज ने खिलाडिय़ों के कामनवेल्थ खेलों में मेडल लाने के लिये बधाई दी। इसी दौरान कांग्रेस के विधायकों ने अनिल विज को बीच मे रोकने की कोशिश की। जिसपर अनिल विज ने भूपिंदर हुड्डा और कांग्रेसियों को कहा कि अगर आप मेडल लाने से खुश नहीं हैं तो बोलते रहो अन्यथा चुपचाप बैठ जाओ। विज ने कहा कि तुमसे बेशर्म कोई हो नहीं सकता जो खिलाडिय़ों के बधाई देने पर भी शोर मचा रहे हो।

सदन में बताया गया कि हरियाणा के119 विद्यालयों में अंग्रेजी माध्यम की शिक्षा पहली कक्षा से शुरू हुई। इसी बीच इनेलो विधायक व नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला ने सवाल उठाया कि अधयापकों के कितने पदों की स्वीकृत हुई व कितनों की भर्ती हुई व कितने रिक्त बचे हैं? केहर सिंह इनेलो विधायक ने कहा कि  सरकार अगले सत्र से एलकेजी यूकेजी की अंग्रेजी की कक्षाएं शुरू करे।



विज ने बताया कि एशियाई खेलों में हरियाणा के खिलाडिय़ों ने छ: गोल्ड, पांच सिल्वर और सात ब्रांज लेकर कुल अठारह मेडल हासिल किए हैं। जिनमें मंजीत सिंह एथेलेटिक्स 800 मीटर में गोल्ड, पानीपत के नीरज चोपड़ा ने जेवलिन थ्रो में गोल्ड, अमित पंघाल रोहतक से 49 किलो बॉक्सिंग में कुश्ती में गोल्ड, झज्जर के बजरंग पूनिया ने भी कुश्ती में गोल्ड व चरखी दादरी की बेटी विनेश फौगाट ने भी कुश्ती में गोल्ड जीता है। वहीं सोनीपत में अरपिंदर सिंह ने ट्रिपल जंप में गोल्ड जीता है।

विज ने बताया कि यमुनानगर के संजीव राजपुत शूटिंग में सिल्वर, जींद लक्ष्य श्योराण ने ट्रैप शूटिंग में सिल्वर, सीमा पूनिया सोनीपत से ब्रांज जीता। भिवानी से विकास कृष्ण ने ब्रांज जीता। झज्जर के दुष्यंत ने रोईंग ने ब्रांज मेडल हासिल किया। पानीपत के अभिषेक वर्मा ने ब्रांज जीता।

विज ने बताया कि हरियाणा की खेल नीति से पूरा देश प्रभावित है। एशियन खेलों व कॉमनवेल्थ खेलों में जिन खिलाडिय़ों ने गोल्ड मेडल जीता है, जिन्हें हरियाणा सरकार तीन करोड़ रूपया इनाम में देगी इसके साथ एचपीएस या एचसीएस की नौकरी दी जाएगी। इसी प्रकार सिल्वर मेडलिस्टों को उनको डेढ़ करोड़ रूपये के साथ क्लास वन की नौकरी दी जाएगी और ब्रांज मेडलिस्टों को 75 लाख रूपये के सााथ क्लास बी की नौकरी देने का काम हरियाणा सरकार देगी। विज ने बताया कि हिंदुस्तान में सबसे ज्यादा इनाम देने वाला प्रदेश हरियाणा है और ये हमारे लिए गर्व की बात है।

विज ने बताया कि ओलंपिक में गोल्ड में लेकर आने वाले खिलाडिय़ों को एचसीएस या एचपीएस की नौकरी आठ साल की सीन्योरिटी के साथ नौकरी देने का फैसला हरियाणा सरकार ने किया है। उन्होंने कहा कि पहले माता-पिता बच्चों को पढऩे के लिए बोलते थे, लेकिन अब वे लाखों-करोड़ों के इनामों के कारण अपने बच्चों को खेलने के लिए प्रेरित करते हैं।

Related Stories:

RELATED ऑनलाइन होंगे बेरोजगारी भत्ता से संबंधित कार्य