Kundli Tv- जानें, कब से होगा गुप्त नवरात्र का आरंभ

ये नहीं देखा तो क्या देखा (देखें VIDEO)

PunjabKesari
शुक्रवार, 13 जुलाई को आषाढ़ मास की अमावस्या पर सूर्य ग्रहण के साथ गुप्त नवरात्र का आरंभ होगा। हिन्दू धर्म में नवरात्रों का अत्यधिक महत्व है। साल में दो बार जहां लोग मां भगवती दुर्गा की कृपा पाने के लिए नवरात्र बड़ी धूमधाम से मनाते हैं, वैसे ही साल में 2 बार गुप्त नवरात्रे भी मनाए जाते हैं। चैत्र और आश्विन के नवरात्रों में जैसे मां की विधिवत पूजा स्तुति की जाती है वैसे ही देवी भागवत के अनुसार आषाढ़ और माघ मास के शुक्ल पक्ष में गुप्त नवरात्र आते हैं। आषाढ़ मास के नवरात्रे भारत के दक्षिण में और माघ मास के गुप्त नवरात्रे उत्तरी भारत में मनाए जाते हैं, जिन्हें साधक किसी विशेष साधना की प्राप्ति के लिए मनाते हैं। 

PunjabKesari
पंचांग मतभेद के कारण कुछ विद्वान गुप्त नवरात्र का आरंभ 14 जुलाई से मान रहे हैं क्योंकि प्रतिपदा तिथि का क्षय हुआ है। द्वितीया तिथि से कभी भी नवरात्र का प्रारंभ नहीं होता। 13 जुलाई की सुबह 8:17 के बाद गुप्त नवरात्र की अमृत बेला होगी।

PunjabKesari
गुप्त नवरात्र दस महाविद्याओं को समर्पित होते हैं, यदि कोई इन महाविद्याओं के रूप में शक्ति की उपासना करे, तो जीवन धन-धान्य, राज्य सत्ता, ऐश्वर्य से भर जाता है। गुप्त नवरात्र में की गई साधना निष्फल नहीं जाती। यह नवरात्र गुप्त सिद्धियों तथा जादू-टोने की काट करने के लिए सर्वश्रेष्ठ हैं। तंत्र अभिचार उतारने, जादू-टोने का अंत करने, बुरी नजर उतारने और भाग्य संवारने हेतू ये नवरात्र विशेष महत्व रखते हैं।

PunjabKesari
Kundli tv- जानें, पूर्णिमा पर क्यों सुनी जाती है सत्यनारायण व्रत कथा

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED चिंतपूर्णी में इस दिन से शुरू होंगे आश्विन नवरात्र मेले, धारा-144 रहेगी लागू