सूरत के कोचिंग सेंटर में भीषण आग में 19 की मौत, जान बचाने के लिए इमारत से कूदे छात्र

नई दिल्ली: गुजरात में हीरा नगरी के नाम से मशहूर सूरत में एक कोचिंग सेंटर में भीषण आग लग गई जिसमें 19 बच्चों की मौत हो गई है जबकि 100 से ज्यादा घायल बताए जा रहे हैं। इमारत में कई छात्रों के फंसे होने की आशंका है। आग को बूझाने के लिए दमकल की 18 गांडिया और दमकल विभाग के 50 कर्मचारी मौके पर पहुंचे। फिलहाल आग पर काबू पा लिया गया है। लेकिन अभी भी कई लोगों के इमारत में फंसे होने की बात कही जा रही है। 



बताया जाता है कि कुछ बच्चों ने इस इमारत से कूदकर जान बचाई है। घायलों को तुंरत अस्पताल ले जाया गया है।  जिस समय यह हादसा हुआ उस वक्त बिल्डिंग में कोचिंग क्लास चल रही थी। आग इस बिल्डिंग के सेकेंड फ्लोर पर लगी है। 



प्रशासन पर उठे सवाल
वहीं इस घटना के बाद प्रशासन पर सवाल भी खड़े हो रहे हैं. आग लगने के तुरंत बाद फायरब्रिगेड विभाग को फोन कर जानकारी दी गई थी, लेकिन विभाग को घटनास्थल तक पहुंचने में करीब पौना घंटा लग गया। जब फायरब्रिगेड विभाग वहां पहुंचा तो उनके पास आग पर काबू पाने के लिए पर्याप्त साधन भी नहीं थे। इसी बीच स्थानीय लोगों ने बच्चों को बचाने का काम किया। 

वहीं इस घटना पर पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर दुख जताते हुए कहा कि सूरत में भीषण आग की घटना से बेहद दुखी हूं।  मेरी संवेदनाएं मरने वालों के परिवारों के साथ हैं। 
घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं। मैंने गुजरात सरकार को स्थानीय प्रशासन से प्रभावितों को सभी तरह की सहायता मुहैया कराने को कहा है। 

Related Stories:

RELATED 10 मंजिला इमारत में आग लगी, कोई हताहत नहीं