अगस्त में घटा GST कलेक्शन, 93,960 करोड़ रुपए रहा

नई दिल्लीः वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) संग्रह में अगस्त में 2.61 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई और यह घटकर 93,960 करोड़ रुपए रह गया। वित्त मंत्रालय द्वारा आज जारी आंकड़ों के अनुसार, अगस्त में जीएसटी संग्रह जुलाई की तुलना में 2,523 करोड़ रुपए कम है। इस साल जुलाई में जीएसटी से 96,483 करोड़ रुपए और जून में 95,610 करोड़ रुपए का राजस्व प्राप्त हुआ था।

मंत्रालय ने कहा है कि संभवत: जुलाई में कुछ वस्तुओं पर करों की दरें घटाने के कारण ग्राहकों ने खरीद टाल दी होगी जिसकी वजह से कर संग्रह कम रहा है। करों की दरों में कमी की घोषणा 21 जुलाई को की गई थी जबकि इसके लिए अधिसूचना 27 जुलाई को जारी की गई थी। इस दौरान ग्राहक कर कम होने का इंतजार करते रहे होंगे।

अगस्त में केंद्रीय जीएसटी का संग्रह 15,303 करोड़ रुपए, राज्य जीएसटी का 21,154 करोड़ रुपए, आईजीएसटी का 49,876 करोड़ रुपए और उपकर का 7,628 करोड़ रुपए रहा। आईजीएसटी में आयात पर प्राप्त 26,512 करोड़ रुपए और उपकर में आयात पर प्राप्त 849 करोड़ रुपए का शुल्क भी शामिल है। जुलाई महीने के लिए 31 अगस्त तक 67 लाख जीएसटीआर 3बी फॉर्म भरे गए। जून महीने के लिए 31 जुलाई तक 66 लाख रिटर्न भरे गए थे। केरल में जुलाई के लिए रिटर्न भरने की अंतिम तारीख 05 अक्टूबर तक बढ़ाई गई है।

सरकार ने बताया कि विवादित कर मामलों में समझौते के तहत अगस्त में केंद्रीय जीएसटी के तहत 36,963 करोड़ रुपए और राज्य जीएसटी के तहत 41,136 करोड़ रुपए प्राप्त हुए। जून और जुलाई के लिए राज्यों को 14,930 करोड़ रुपए की क्षतिपूर्ति दी गई। अगस्त में कर संग्रह कम रहने की पीछे सरकार ने और तर्क देते हुए कहा है कि आम तौर पर जुलाई की तुलना में अगस्त में कम कर जमा होता है। पारंपरिक रूप से जुलाई में कर संग्रह वार्षिक कर राजस्व का 8.2 प्रतिशत और अगस्त में 7.7 प्रतिशत रहता है।  

Related Stories:

RELATED GST टीम ने 3.30 करोड़ चोरी टैक्स पकड़ा