स्कूली बच्चों में ज्ञान से बड़ी जरूरत अच्छे संस्कारों की होती है : राजनाथ

ग्रेटर नोएडा:स्कूली बच्चों में अच्छे संस्कारों के महत्व पर जोर देते हुए केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि ज्ञान से बड़ी जरूरत संस्कार की होती हैं। उन्होंने कहा, बच्चों को सिर्फ शिक्षा प्रदान करना ही पर्याप्त नहीं है बल्कि ‘‘मूल्यों के प्रति प्रतिबद्धता’’ जरूरी है। समाज का कल्याण चाहने वाले प्रत्येक व्यक्ति के लिये यह एक महत्वपूर्ण कारक है।  केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा, ‘‘सुरक्षा बलों को भी ज्ञान के अलावा मूल्यवान, संस्कारवान और चरित्रवान होना चाहिए। इन गुणों से उनकी कर्तव्यनिष्ठा में दो गुनी ताकत आ जाती है।’’      

राजनाथ सिंह यहां सोमवार को ग्रेटर नोएडा के सूरजपुर स्थित केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के एसएसजी कैंप में केंद्रीय विद्यालय के निर्माण के लिए आयोजित भूमिपूजन तथा आधारशिला कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि आये थे।      

कार्यक्रम के बाद समारोह में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने राम और रावण का उदाहरण दिया और कहा कि रावण मर्यादा पुरूषोत्तम राम से अधिक धनवान, बलवान, तथा ज्ञानी था। लेकिन आज भी रावण की नहीं राम की पूजा होती है। मर्यादा पुरूषोत्तम राम ने सम्पूर्ण जीवन में मर्यादाओं और संस्कारों का पालन किया।    मंत्री ने कहा, ‘‘ज्ञान अर्जन के लिये शिक्षा देना ही काफी नहीं है बल्कि बच्चों में अच्छे संस्कार और गुण विकसित किये जाएं। जो भी समाज की भलाई और बेहतरी चाहता है, उस हर व्यक्ति के लिये मूल्यों के प्रति प्रतिबद्धता जरूरी है।’’      

सिंह ने कहा कि इस स्कूल से न सिर्फ सीआईएसएफ, सीआरपीएफ तथा आईटीबीपी के जवानों के बच्चों को उच्च शिक्षा प्राप्त होगी, बल्कि आस-पास के क्षेत्रों के गरीब बच्चों को उच्च शिक्षा पाने का अवसर मिलेगा।    उन्होंने कहा कि यहां बने रेफरल हॉस्पिटल से भी सुरक्षा बलों के अलावा आस-पास के क्षेत्रों के लोग बेहतर इलाज मिल पा रहा है।      

उन्होंने कहा कि राजनाथ सिंह की प्रेरणा एवं मार्गदर्शन से ही मुझे आज राजनीति में थोड़ी बहुत ऊंचाई पाने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है। आज पूरे विश्व में भारत तथा भारतीयता का सम्मान शिखर पर है।  कार्यक्रम के आयोजन के लिए उन्होंने सीआईएसएफ का आभार भी जताया और केंद्रीय स्कूलों के संगठन से बच्चों के लिए गुणवत्तापूर्ण शिक्षा सुनिश्चित का अनुरोध किया।      

इस मौके पर दादरी के विधायक तेजपाल सिंह नागर सहित अन्य उपस्थित रहे। कार्यक्रम की मेजबानी सीआईएसफ के महानिदेशक राजेश रंजन, केंद्रीय विद्यालय संगठन आयुक्त संतोष कुमार मल्ल ने की। सीआईएसफ के महानिदेशक राजेश रंजन ने केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह को सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा भेंट की तथा केंद्रीय मंत्री डॉ. महेश शर्मा एवं विधायक तेजपाल नागर को मां सरस्वती की प्रतिमा भेंट कर उनका अभिनंदन किया। इस दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया।  

पांच एकड़ में फैले केवी में यहां रह रहे केंद्रीय अद्र्धसैनिक बल के र्किमयों के बच्चों को दाखिला मिलेगा। यह केंद्रीय विद्यालय आईटीबीपी, सीआईएसएफ एवं सीआरपीएफ के सूरजपुर स्थित परिसरों में पदस्थ बल के लगभग 6000 सदस्यों के बच्चों की शैक्षिक आवश्यकताओं की पूर्ति करेगा। इन तीनों बलों के परिसर आपस में अन्य सुविधाएं भी साझा करते हैं। पिछले साल केंद्र सरकार ने इसकी मंजूरी दी थी। इसके निर्माण की अनुमानित लागत लगभग 22 करोड़ रुपए है। 

Related Stories:

RELATED स्कूली बच्चों के लिए खरीदी जा रही बोतलों के सैंपल फेल