सरकार ने 2017-18 में अब तक 3.8 करोड़ टन चावल की खरीदारी की

नई दिल्लीः खाद्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार को कहा कि चालू विपणन वर्ष 2017-18 में अब तक केन्द्र सरकार की चावल खरीद तय लक्ष्य 3.80 करोड़ टन के लक्ष्य को पार कर गई है। इस वर्ष के लिए चावल खरीद लक्ष्य 3.75 करोड़ टन निर्धारित किया गया है।

सरकार ने पिछले विपणन वर्ष (अक्टूबर-सितंबर) के दौरान 3.43 करोड़ टन धान की खरीद की थी, जो वर्ष के लिए 3.3 करोड़ टन के निर्धारित लक्ष्य से अधिक रही। अधिकारी ने बताया, 'चावल खरीद का काम इस महीने समाप्ति की ओर बढ़ रहा है। अभी तक हमने 3.8 करोड़ टन की खरीद की है। हमने इस साल तय लक्ष्य से अधिक खरीद की है।' अधिकांश चावल पंजाब, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, ओडिशा, आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों से खरीदा गया है।

देश के कुल चावल उत्पादन का 33 प्रतिशत से अधिक चावल की खरीद न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर की गई है। धान को न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर खरीदा जाता है। राज्य संचालित भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) और राज्य सरकार की अन्य एजेंसियों ने खरीद अभियान चलाया था। चालू वर्ष के लिए, सरकार ने ‘सामान्य’ ग्रेड किस्म के धान का एमएसपी 1,550 रुपए प्रति क्विंटल तय किया है, जबकि ‘ए’ ग्रेड किस्म के धान का एमएसपी 1,590 रुपए प्रति क्विंटल निर्धारित किया है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक देश ने पिछले साल के 10 करोड़ 97 लाख टन के मुकाबले वर्ष 2017-18 में 11 करोड़ 29 लाख टन चावल का रिकॉर्ड उत्पादन किया है।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED पंजाब की केंद्र सरकार से मांग-FCI के गोदामों में पड़ा खाद्यान्न तेजी से शिफ्ट किया जाए