सरकार गुणवत्ता शिक्षा प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध, छात्र राष्ट्र निर्माण में निभाएं प्रमुख भूमिका

जालंधर: पंजाब के शिक्षा मंत्री ओ.पी. सोनी ने रविवार को कहा कि राज्य सरकार छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है ताकि छात्र राष्ट्र निर्माण में एक प्रमुख भूमिका निभा सकें।  


डीएवी-ईटी में श्री राम कृष्ण सेवा संघ (पंजीकृत) द्वारा आयोजित एक समारोह में संबोधित करते हुए श्री सोनी ने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने विशेष रूप से शिक्षा विभाग के बजट में वृद्धि सुनिश्चित करने के लिए वित्त विभाग को आदेश दिया है। उन्होंने कहा कि सरकार स्मार्ट स्कूलों, कंप्यूटर प्रयोगशालाओं, पुस्तकालयों, आरओ प्रणाली की स्थापना और स्कूलों की इमारतों की छत पर सौर पैनल स्थापित करने के अलावा सरकारी स्कूलों में आधारभूत संरचना को अपग्रेड कर रही है। शिक्षा मंत्री ने कहा कि शिक्षकों को अपने उज्ज्वल भविष्य को सुनिश्चित करने के लिए छात्रों को मूल्य-आधारित शिक्षा प्रदान करने के लिए समर्पण, ईमानदारी और वचनबद्धता के साथ अपने कर्तव्यों का निर्वहन करना होगा। 


उन्होंने कहा कि शिक्षकों को छात्रों के बीच कड़ी मेहनत, अनुशासन और नेतृत्व के गुणों को विकसित करना चाहिए ताकि वे समाज के आदर्श नागरिक बन सकें और देश के विकास में योगदान दे सकें।  हड़ताल पर मौजूद शिक्षकों के संघों से अपील करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार उनकी सभी उचित मांगों को स्वीकार करने के लिए तैयार है। मंत्री ने कहा कि सरकारी स्कूलों के छात्रों ने अपनी योग्यता साबित कर दी है और वे जीवन में अधिक ऊंचाईयों को छूने के लिए अपने कड़ी मेहनत को जारी रखेंगे।  ङ्क्षहद समाचार पत्र समूह के मुख्य संपादक विजय चोपड़ा की भूमिका की सराहना करते हुए मंत्री ने ऐसे संगठनों को आगे आने और राज्य में शिक्षा प्रणाली में सुधार के लिए सरकार के साथ हाथ मिलाने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने समाज के प्रति योगदान के लिए संगठन को पांच लाख रुपये देने की भी घोषणा की।  इस अवसर पर जिला उपायुक्त वरिंदर कुमार शर्मा, महापौर जगदीश राज राजा, जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष दलजीत सिंह अहलूवालिया, वरिष्ठ कांग्रेस नेता सतनाम सिंह बिट्टा और अन्य उपस्थित थे। 

Related Stories:

RELATED 7000 सरकारी अध्यापकों की दौड़ लगवाएगा शिक्षा विभाग