अपने हर डर से पाना चाहते हैं छुटकारा तो याद रखें ये बातें

ये नहीं देखा तो क्या देखा(video)
हिंदू धर्म में ऐसे बहुत से ग्रंथ हैं जिनसे हमें बहुत सारी शिक्षाएं ग्रहण करने को मिलती है। जैसे कि श्रीमद्भगवद्गीता में जो उपदेश दिए गए हैं उनमें जीवन के हर पहलू और हर अवस्‍था का पूरा सार छिपा है। माना जाता है कि इसके एक-एक प्रसंग में जीवन के हर अनुभव के बारे में विस्तार से बताया गया है। व्यक्ति के जन्म से लेकर मरने तक के चक्र का श्रीमद्भगवद्गीता में विवरण मिलता है। कहते हैं कि अगर हर व्यक्ति गीता में छुपे उपदेशों को अपने जीवन में अपना लेता है तो उसे कभी हार का सामना नहीं करना पड़ता है। आज हम आपको उन्हीं में से कुछ ऐसे प्रसंगों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आपके हर मोड़ पर काम आएंगे।     


गीता में बताया गया है कि जो लोग दूसरों पर बिना वजह ही संदेह करते हैं, वे कभी खुश नहीं रह सकते हैं। क्योंकि वे बिना किसी कारण खुद ही रिश्तों में कड़वाहट भर देते हैं।  

कहते हैं कि वासना, गुस्सा और लालच- ये तानों चीज़ें नरक का रास्ता है , तो गीला में बताया है कि व्यक्ति इन तीनों से दूर रहना चाहिए। 

अगर किसी जीव का जन्म हुआ है तो मृत्यु भी निश्चित होती है, इसलिए जो चीज़ निश्वित है उसके लिए शोक या पछतावा क्यों करना और व्यर्थ की चिंता में नहीं पड़ना चाहिए। 

जो लोग समझदार होते हैं, उन्हें समाज में भलाई का के काम करने चाहिए और निस्वार्थ भावना से हर काम में आगे बड़ कर हिस्सा लेना चाहिए। 

गीता में लिखा गया है कि जब कोई व्यक्ति भगवान को याद करता-करता मृत्यु को प्राप्त होता है, उसे सीधा भगवद धाम की प्राप्ति होती है। 
यहां मिलेगी होली से जुड़ी हर जानकारी(video)

Related Stories:

RELATED दुनिया भर में बढ़ी पत्रकारों के प्रति दुश्मनी की भावना, भारत दो पायदान गिरा