लुधियाना गैंगरेप: चश्मदीद ने बयां किया काली रात का पूरा सच (Watch Video)

लुधियाना:लुधियाना गैंगरेप मामले के चश्मदीद और पीड़िता के दोस्त ने 9 फरवरी की काली रात का पूरा सच पंजाब केसरी के समक्ष बयां किया है। चश्मदीद ने बताया कि वारदात की रात उसे फिरौती के लिए फ़ोन आया था।


दोषियों को दी जाए सख्त से सख्त सज़ा
पहले तो दोषियों ने दोनों बच्चों (पीड़िता और उसके दोस्त) को छोड़ने के लिए उससे 1 लाख रुपया मांगा लेकिन बाद में 2 लाख की मांग करने लगे। इसके बाद चश्मदीद सीधा पुलिस थाने गया लेकिन वहां उसकी काफ़ी देर तक कोई सुनवाई नहीं हुई। आखिर में काफ़ी देर बाद पुलिस उसके साथ घटनास्थल पर पहुंची लेकिन वहां धुंध के कारण कुछ दिखाई नहीं दे रहा था। चश्मदीद ने बताया कि पुलिस वाले इस मामले में 6 दोषी होने की बात कर रहे हैं, जबकि पीड़ता इस घटना में 10 लोगों के शामिल होने की बात कह रही है और अब भी वह अपने बयान पर कायम है। चश्मदीद का कहना है कि इस मामले का जल्द से जल्द निपटारा करके दोषियों को सख़्त से सख़्त सज़ा दी जाए।

3 आरोपी 14 दिनों के ज्यूडीशियल रिमांड पर
गौरतलब है कि इस मामले में नाबालिग समेत 3 आरोपियों को माननीय अदालत ने 14 दिनों के ज्यूडीशियल रिमांड पर जेल भेज दिया, जबकि 3 आरोपी पहले ही दाखा पुलिस के पास 7 दिन के पुलिस रिमांड पर हैं।थाना दाखा प्रमुख राजन परमिंद्र सिंह के अनुसार लियाकत अली शर्मनाक काम करके जम्मू भाग गया था, जिसको पुलिस पार्टी ने वहां से काबू किया था, जबकि नाबालिग अजय कुमार और सैफ अली खान को सूचना पर नौआबाद तलवंडी के नजदीक से मोटरसाइकिल समेत काबू किया है। इन तीनों को माननीय अदालत में पेश किया गया, जिनको 14 दिनों के ज्यूडीशियल रिमांड पर जेल भेज दिया गया है।

Related Stories:

RELATED लुधियाना के बाद अब अमृतसरमें 12 साल की मासूम से दुष्कर्म