Kundli Tv- इस गणेशोत्सव पर पढ़ना न भूलें गणपति के ये Favorite मंत्र

ये नहीं देखा तो क्या देखा (देखें Video)
आज हम आपको गणेश भगवान से जुडे कुछ एेसे मंत्रों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनका जाप करने से इस गणेश चतुर्थी पर आप गणपति की डबल कृपा पा सकेंगे। माना जाता है कि जो कोई भी इन मंत्रों के साथ विघ्नहर्ता की पूजा करता है उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। इसके साथ ही कहा जाता है इन स्पेशल मंत्रों का जाप प्रात:काल 251 या 1100 बार तुलसी या चंदन की माला से पूरे ध्यान पूर्वक करना चाहिए, इससे जल्द ही शुभ फल प्राप्त होते हैं। शास्त्रों के अनुसार गौरी नंदन विघ्नहर्ता श्री गणेश जी का ये सिद्ध मंत्र इतने चमत्कारिक और प्रभावशाली माने गए हैं, जिसका श्रद्धापूर्वक जप करने से सभी समस्याओं का समाधान होने के साथ-साथ सुख समृद्धि की प्राप्ति होती है। आइए जानते हैं इन मंत्रों के बारे में- 
PunjabKesari
मंत्र-
ॐ गं गणपतये नमः।।
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इस मंत्र का जाप तांत्रिक क्रिया की बाधा को नष्ट करने के लिए, विविध कामनाओं कि शीघ्र पूर्ति के लिए उच्छिष्ट गणपति की साधना के लिए किया जाता है। 


ॐ वक्रतुंडाय हुम्‌।।
इस मंत्र का उच्चारण आलस्य, निराशा, कलह, विघ्न दूर करने के लिए किया जाता है।


ॐ हस्ति पिशाचि लिखे स्वाहा।।
समस्त विघ्न दूर होकर धन, आध्यात्मिक चेतना के विकास और आत्मबल की प्राप्ति के लिए हेरम्बं गणपति के इस मंत्र का जाप करना फलदायी माना जाता है।


ॐ गं क्षिप्रप्रसादनाय नम:।।
इस मंत्र के जप से रोज़गार और आर्थिक समृद्धि प्राप्त के साथ-साथ सुख सौभाग्य की प्राप्ति होती है।


ॐ गूं नम:।।
लक्ष्मी प्राप्ति और व्यवसाय बाधाएं दूर करने के लिए यह मंत्र सबसे  सर्वोत्तम माना गया है।

PunjabKesari
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गण्पत्ये वर वरदे नमः ॐ तत्पुरुषाय विद्महे वक्रतुण्डाय धीमहि तन्नो दन्तिः प्रचोदयात।।
इस मंत्र के जप से समस्त प्रकार के विघ्न और संकट खत्म हो जाते हैं।


ॐ गीः गूं गणपतये नमः स्वाहा।।
विवाह में आने वाले दोषों को दूर करने के लिए त्रैलोक्य मोहन गणेश मंत्र का जप करने से शीघ्र विवाह और अनुकूल जीवनसाथी की प्राप्ति होती है।


ॐ श्री गं सौभाग्य गणपत्ये वर वरद सर्वजनं में वशमानय स्वाहा।।
इस मंत्र के जप के साथ श्री गणेश चालीसा का पाठ करने से यह मंत्र शीघ्र सिद्ध हो जाता है और गणेश जी की कृपा से सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती है।
 

ॐ वक्रतुण्डेक द्रष्टाय क्लींहीं श्रीं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मं दशमानय स्वाहा।। 
हिंदू पुराणों के अनुसार ये मंत्र गजानन का सबसे प्रिय मंत्र, जो भी इस मंत्र का जाप सच्ची श्रद्धा से करता है, उस पर भगवान गणेश बहुत जल्दी प्रसन्न होते हैं। 
PunjabKesari
Kundli Tv- अगर आप पर भी हो रहा जादू टोना तो होगा कुछ ऐसा (देखें Video)

 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED Kundli Tv- गणेश चतुर्थी: आज रात चांद को देखते वक्त बोलें ये मंत्र