ऑफ द रिकॉर्डः गडकरी का विदेशी दौरा रद्द

नेशनल डेस्कः मोदी सरकार में नितिन गडकरी सबसे बढिय़ा परफॉर्मर मंत्री हैं तो क्या हुआ। उनकी बढ़िया कारगुजारी के चलते उनको टॉप 4 नेताओं में शुमार करने या उन्हें प्रोमोट करने की बजाय उनके साथ कुछ अजीब हो रहा है। 4 साल में राष्ट्रीय हाईवे अथॉरिटी के 4 चेयरमैन बदले गए हैं। यहीं नहीं, प्रधानमंत्री ने उनके यू.एस. के दो दौरों पर भी कैंची चला दी। उनका कार्यक्रम इसराईल, कनाडा और यू.एस. जा कर रोड शो करके अपने मंत्रालय के लिए निवेश बढ़ाने का था लेकिन उन्हें बिना किसी कारण उन कार्यक्रमों को रद्द करने को कहा गया।


सितम्बर 8 और 9 को भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी की और नीति आयोग की बैठक है जबकि गडकरी का विदेशी दौरा जुलाई में होना था और स्वयं पी.एम.ओ. ने उसे क्लीयर भी कर दिया था। बाद में एकाएक उन्हें इस दौरे को रद्द करने के लिए कहा गया।

अपने एक सप्ताह के यू.एस. दौरे के दौरान गडकरी की योजना बंदरगाहों, जहाज निर्माण और तटीय आर्थिक जोन के लिए निवेश जुटाना था। यही नहीं, गडकरी के मंत्रालय को बजट में भी कोई खास पूंजी उपलब्ध नहीं कराई गई है। उन्हें मंत्रालय के संसाधनों से ही पूंजी जुटाने को कहा गया है।

Related Stories:

RELATED अब 2.15 घंटे में तय होगा सहारनपुर से दिल्ली का सफर: गडकरी