ग्वालियर एयरबेस पहुंचे राफेल,वायुसेना के पायलटों को मिला प्रशिक्षण

नई दिल्ली : राफेल सौदे को लेकर मचे बवाल के बीच फ्रांस सरकार ने तीन राफेल लड़ाकू विमानों को ग्वालियर में एक प्रदर्शनी में पेश किया है। भारत में फ्रांस के राजदूत एलेक्जेन्डर जिगलर ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है।

PunjabKesariउन्होंने लिखा , भारत और फ्रांस अपनी सामरिक साझेदारी की इस साल 20वीं वर्षगांठ मना रहे हैं और इस मौके पर दोनों वायु सेनाओं के बीच आदान प्रदान की गतिविधियों से मैं दंग हूं। एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा , ग्वालियर में तीन राफेल विमान , एक एयरबस ए-400 एम, सैन्य मालवाहक विमान,एयरबस ए-310 की टीम के पायलटों और प्रभारी से मिलकर खुशी हुई।

PunjabKesariफ्रांसीसी वायु सेना ने दोनों देशों के बीच सामरिक भागीदारी के 20 वर्ष पूरे होने के मौके पर ‘मिशन पिगासे’ का आयोजन किया था। सूत्रों का कहना है कि इससे दोनों देशों के बीच की साझेदारी के महत्व का पता चलता है।? फ्रांसीसी दूतावास ने भी कहा है कि मिशन पिगासे दोनों पक्षों की साझेदारी की मजबूती तथा सशस्त्र सेनाओं के बीच परस्पर विश्वास का प्रतीक है। इससे पहले मिशन के तहत फ्रांसीसी विमानों ने भारतीय वायु सेना के विमानों के साथ संयुक्त अभ्यास में हिस्सा लिया।   इस मिशन के तहत यह हवाई बेड़ा इंडोनेशिया, मलेशिया, वियतनाम और सिंगापुर होते हुए तीन दिन के लिए भारत में रुका था। मिशन का मंगलवार को अंतिम दिन है। PunjabKesari

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!