AIMC की पूर्व अध्यक्ष ने साधा निशाना, बोलीं- राफेल डील में खुली PM Modi की ईमानदारी की पोल

बिलासपुर (मुकेश): अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की पूर्व प्रदेशाध्यक्षा एवं विशेष सदस्य अनीता वर्मा ने कहा है कि राफेल डील से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ईमानदारी की पोल खुल गई है और यह स्पष्ट हो गया है कि देश का चौकीदार अब भागीदार बन गया है। इंदिरा भवन बिलासपुर में आयोजित पत्रकार वार्ता में अनीता वर्मा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर प्रहार किए। उन्होंने कहा कि वर्ष, 2014 में अपने आपको ईमानदार कहने वाले मोदी के शासनकाल में वर्ष, 2012 में राफेल को जो विमान 526 करोड़ रुपए का था, वह अब बढ़कर 1,670 करोड़ रुपए का हो गया है।

12 दिन पहले पंजीकृत हुई कंपनी को दिया कॉन्ट्रैक्ट
उन्होंने राफेल डील के लिए अपनाई गई प्रक्रिया पर सवालिया निशान लगाते हुए कहा कि एक सरकारी कंपनी को छोड़कर एक निजी कंपनी को बिना पूरी औपचारिकताएं किए ही इसका कॉन्ट्रैक्ट दे दिया गया। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जानना चाहा कि ऐसी क्या मजबूरी हो गई थी कि एक 55 वर्षों से काम कर रही सरकारी क्षेत्र की कंपनी को दरकिनार कर इस डील से मात्र 12 दिन पहले पंजीकृत हुई कंपनी को कॉन्टै्रक्ट देना पड़ा। देश की जनता इन बातों का हिसाब मांग रही है। उन्होंने बताया कि राफेल डील के लिए लगाई गई ट्रांसफर ऑफ टैक्रोलॉजी की शर्त से मेक इन इंडिया का दावा करने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह दावा भी एक जुमला ही साबित हुआ।

निजी कंपनी को फायदा पहुंचाने के लिए किया गड़बड़झाला
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की सुरक्षा से खिलवाड़ करने का प्रयास किया है। वर्ष, 2012 में देश की वायु सेना को 126 लड़ाकू विमानों की जरूरत थी लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लड़ाकू विमानों की संख्या को कम कर 36 कर दिया। उन्होंने बताया कि रिलायंस डिफैंस कंपनी को 30,000 करोड़ रुपए का ऑफसैट कॉन्टै्रक्ट और एक लाख करोड़ रुपए का लाइफ कॉस्ट कंट्रोल कॉन्टै्रक्ट दिया। एक निजी कंपनी को फायदा पहुंचाने के लिए ही 1,30,000 करोड़ रुपए का यह कथित गड़बड़झाला किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को इस बारे श्वेत पत्र जारी करना चाहिए।

तत्कालीन रक्षा मंत्री को लिखा पत्र भी नहीं स्वीकारा
उन्होंने बताया कि 4 जुलाई, 2014 को यूरोफाइटर टाईफून कंपनी ने तत्कालीन रक्षा मंत्री को लड़ाकू विमान 20 प्रतिशत कम दर पर उपलब्ध करवाने का पत्र लिखा था लेकिन इसे भी केंद्र की भाजपा सरकार ने स्वीकार नहीं किया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की इस कारगुजारी को विभिन्न माध्यमों से जन-जन तक पहुंचाया जाएगा ताकि देश की जनता तथाकथित चौकीदार की अगुवाई वाली केंद्र सरकार की असलियत जान सके। इस अवसर पर जिला कांग्रेस अध्यक्ष कमलेंद्र कश्यप, पूर्व विधायक बंबर ठाकुर, तिलक राज शर्मा व डा. बीरू राम किशोर, जिला कांग्रेस महामंत्री संदीप सांख्यान व सदर ब्लॉक अध्यक्ष तेजस्वी शर्मा सहित कई पदाधिकारी भी मौजूद रहे।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!