हरियाणा पुलिस पर कार्रवाई को लेकर मृतक के पारिवारिक सदस्यों ने धरना लगाकर यातायात किया ठप्प

गिद्दड़बाहा (कुलभूषण): गत 20 सितम्बर को गिद्दड़बाहा के लंबी रोड पर रहने वाले एक युवक द्वारा अपनी पत्नी व उसके मायका परिवार से तंग आकर खुदकुशी कर लिए जाने के बाद पहले से ही मृतक की पत्नी द्वारा पहले दर्ज करवाए गए मुकद्दमे संबंधी मृतक युवक व उसके भाई को गिरफ्तार करने के लिए आई हरियाणा पुलिस द्वारा मृतक नौजवान विक्रम के पारिवारिक सदस्यों के साथ कथित मारपीट करने के मामले में गिद्दड़बाहा पुलिस द्वारा हरियाणा पुलिस के उक्त मुलाजिमों के विरुद्ध कोई भी कार्रवाई न किए जाने के विरोध में आज मृतक के पारिवारिक सदस्यों और दलित संगठन द्वारा गिद्दड़बाहा के कचहरी चौक में धरना लगाकर सड़क  यातायात ठप्प किया गया और स्थानीय पुलिस प्रशासन के विरुद्ध नारेबाजी की गई।

 गौरतलब है कि पीड़ित परिवार हरियाणा पुलिस के कर्मचारियों विरुद्ध मामला दर्ज करने की मांग को लेकर अड़ा हुआ है, जबकि मृतक का शव अभी भी सिविल अस्पताल गिद्दड़बाहा के मुर्दाघर में पड़ा है, जहां से मृतक का पोस्टमार्टम करवाने के लिए शव को फरीदकोट ले जाया जाना है। इस मौके पर एडवोकेट चुन्नी लाल भारती इंचार्ज बहुजन समाज पार्टी लोकसभा हलका फिरोजपुर ने कहा कि मृतक विक्रम का प्रेम विवाह दीक्षा पुत्री राजेश कुमार निवासी नंगल चौधरी (हरियाणा) के साथ हुआ था। दीक्षा के पारिवारिक सदस्य उसे गत 1 सितम्बर को दीक्षा को बहाना बनाकर अपने साथ हरियाणा ले गए थे, परंतु बाद में 19 सितम्बर को दीक्षा के बयानों पर मृतक व उसके भाई के विरुद्ध सामूहिक दुष्क र्म का मुकद्दमा दर्ज कर किया गया था।

इसी मुकद्दमे के सिलसिले में पहले हरियाणा पुलिस द्वारा मृतक को उठाकर ले जाने की धमकी दी गई और बाद में 20 सितम्बर की सुबह गिद्दड़बाहा पुलिस को कोई सूचना दिए बिना विक्रम के घर में दाखिल होकर जहां विक्रम के शव को पैरों से पीटा गया, वहीं ऐसा करने से रोकने पर पारिवारिक सदस्यों के साथ बहुत बेरहमी से मारपीट की, जबकि कर्मचारियों ने घर में दाखिल होने समय शराब पी हुई थी। 

दख्र्वास्त मिली तो करेंगे बनती कार्रवाई: एस.एच.ओ.
उधर मौके पर पहुंचे थाना गिद्दड़बाहा के एस.एच.ओ. कृष्ण कुमार ने धरनाकारियों को कहा कि वह हरियाणा पुलिस के कर्मचारियों के विरुद्ध दख्र्वास्त दें और वह उनके विरुद्ध बनती कार्रवाई अमल में लाएंगे। उन्होंने उपस्थिति को आश्वासन दिलाया कि वह नियमों अनुसार बनती कार्रवाई करेंगे और वह मृतक विक्रम का पोस्टमार्टम करवाने के बाद उसका अंतिम संस्कार कर दें। एस.एच.ओ. कृष्ण कुमार द्वारा मिले आश्वासन के बाद मृतक के पारिवारिक सदस्य व धरनाकारी केवल पोस्टमार्टम के लिए सहमत हुए। उन्होंने कहा कि यदि पोस्टमार्टम तक हरियाणा पुलिस के विरुद्ध कार्रवाई न हुई तो वह मृतक का संस्कार नहीं करेंगे। उसके शव को इसी जगह पर रखकर रोष प्रदर्शन करेंगे। 

गिद्दड़बाहा पुलिस ने नहीं करवाया मैडीकल
गौरतलब है कि इस मारपीट के बाद मृतक विक्रम की माता छिन्दरपाल कौर सिविल अस्पताल में उपचाराधीन है। ऐसे हालात में मौके पर पहुंची गिद्दड़बाहा पुलिस ने तुरंत हरियाणा पुलिस के कर्मचारियों का मैडीकल नहीं करवाया, जिससे हरियाणा पुलिस उक्त कर्मचारियों को नशा उतरने तक का समय मिल गया। 

Related Stories:

RELATED मृतक के परिजनों ने जिला प्रबंधकीय कॉम्प्लेक्स समक्ष शव रखकर किया प्रदर्शन