सफारी पर नीली बत्ती लगाकर घूम रहा नकली DSP गिरफ्तार

अमृतसर (संजीव):सफारी गाड़ी पर नीली बत्ती लगाकर शहर के विभिन्न क्षेत्रों में घूम रहे नकली डी.एस.पी. को थाना कोट खालसा की पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान हीरा सिंह निवासी जलाल ऊसमा के रूप में हुई है जबकि उसका नकली पी.एस.ओ. सुखविन्द्र सिंह निवासी फिरोजपुर जो खुद को पंजाब पुलिस का हैड कांस्टेबल बताता है, अभी पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ा है।

गिरफ्तार आरोपी के कब्जे से 32 बोर की 2 पिस्तौलें, 315, 35 व 32 बोर की 10 गोलियां, नकली पहचान पत्र, जाली लाइसैंस, गोलियों के 2 पट्टे बरामद हुए। यह खुलासा थाना कोट खालसा के इंचार्ज एस.आई. लखविन्द्र सिंह ने आज एक पत्रकार सम्मेलन के दौरान किया। उन्होंने बताया कि सूचना मिली थी कि आरोपी भोले-भाले लोगों को नौकरी दिलवाने व विदेश भेजने का झांसा देकर लाखों रुपए की ठगी कर रहा है, जिस पर आज नाकाबंदी कर उसे सफारी गाड़ी सहित गिरफ्तार कर लिया गया, जिसमें से बरामद किए गए हथियारों के बारे में आरोपी न तो कोई संतोषजनक जवाब दे सका और न ही उनके कोई लाइसैंस दिखा सका।

आरोपी को माननीय अदालत के निर्देशों पर ज्यूडीशियल रिमांड में भेज दिया गया है। अपनी सफारी गाड़ी पर भी लगा रखा था वी.आई.पी. नंबर नकली डी.एस.पी. हीरा सिंह से कब्जे से बरामद की गई सफारी गाड़ी पर पी.बी. 06 एन. 0027 वी.आई.पी. नंबर लगा हुआ था जो जांच के बाद नकली पाया गया।

हीरा सिंह किसी भी व्यक्ति को अपना शिकार बनाने से पहले अपने पी.एस.ओ. को पंजाब पुलिस की वर्दी पहनाता और उस व्यक्ति पर रोब डालने के लिए अपने पी.एस.ओ. को उसके पास भेजता जो उसे हीरा सिंह के बारे में बढ़-चढ़कर बातें बताता। इसके बाद शिकार उनकी बातों में आ जाता और वे लाख-2 लाख की उससे ठगी कर लेते थे। हीरा सिंह के कब्जे से उसका जाली डी.एस.पी. का पहचान पत्र व विजटिंग कार्ड बरामद हुआ जिस पर एच.एस. हीरा डी.एस.पी. लिखा हुआ है।

अक्सर बच्चों के पास आता-जाता था न्यूजीलैंड
गिरफ्तार किया गया नकली डी.एस.पी. हीरा सिंह अक्सर न्यूजीलैंड अपने बच्चों से मिलने के लिए जाया करता था। कुछ माह पहले ही वह न्यूजीलैंड से भारत वापस आया था, जहां से आने के बाद वह खुद नकली डी.एस.पी. बनकर घूमने लगा और उसने सुखविन्द्र सिंह को अपने साथ मिला उसे हैड कांस्टेबल की वर्दी पहनाकर अपना नकली पी.एस.ओ. बना लिया। इसके बाद वह लोगों को नौकरी दिलवाने व विदेश भेजने का झांसा देकर ठगी करने लगा।

गहनता से की जाएगी जांच : थाना प्रभारी
थाना प्रभारी एस.आई. लखविन्द्र सिंह का कहना है कि आरोपी से बरामद किए गए हथियारों के बारे में गहनता के साथ जांच की जाएगी ताकि यह पता चल सके कि हथियार लाइसैंसी हैं या इन्हें अवैध रूप से रखा गया था। पुलिस हीरा सिंह द्वारा सरअंजाम दी गई अन्य वारदातों व शिकार बनाए गए लोगों के बारे में भी पूछताछ कर रही है।

Related Stories:

RELATED दाप्निश कैडर के DSP पर आला अफसर मेहरबान